Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

Birthday Special... अभिनेता नहीं बल्कि फोटोग्राफर बनना चाहते थे बॉलीवुड के 'प्राण'

 Kirti |  2017-02-12 09:43:03.0

Birthday Special... अभिनेता नहीं बल्कि फोटोग्राफर बनना चाहते थे बॉलीवुड के प्राण

तहलका न्यूज़ ब्यूरो
मुंबई. हिन्दी फिल्मों के जाने माने एक्टर प्राण जो अपने दमदार अभिनय से हर किरदार में 'प्राण' डाल देता था. बता दें कि बॉलीवुड में प्राण एक ऐसे खलनायक थे जिन्होंने 50 और 70 के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर खलनायकी के क्षेत्र में एकछत्र राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया.


इस दौरान उन्होंने जितने भी फिल्मों में काम किया उसे देखकर ऐसा लगा कि उनके द्वारा अभिनीत हर किरदार को केवल वे ही निभा सकते थे. आज उनके जन्मदिन के मौके पर जानिए उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें.




प्राण का पूरा नाम प्राण कृष्ण सिकंद था और उनका जन्म 12 फरवरी, 1920 को पुरानी दिल्ली के बल्लीमारान इलाके में एक संपन्न परिवार में हुआ था. कम ही लोग जानते होंगे कि फिल्मों में अपनी एक्टिंग से सबको अपना दीवाने बनाने वाले प्राण अभिनेता नहीं बल्कि फोटोग्राफर बनना चाहते थे. लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था और आज वो एक दिग्गज अभिनेता से जाने जाते हैं.


प्राण ने लगभग 22 फिल्मों में अभिनय किया और उनकी फिल्में सफल भी हुई लेकिन उन्हें ऐसा महसूस हुआ कि मुख्य अभिनेता की बजाय खलनायक के रूप में फिल्म इंडस्ट्री में उनका भविष्य सुरक्षित रहेगा.

साल 1948 में उन्हें बांबें टॉकीज की निर्मित फिल्म 'जिद्दी' में बतौर खलनायक काम करने का मौका मिला. फिल्म की सफलता के बाद प्राण ने फैसला किया कि वो खलनायकी को ही करियर का आधार बनाएंगे और इसके बाद प्राण ने लगभग 4 दशक तक खलनायकी की लंबी पारी खेली और दर्शको का भरपूर मनोरंजन किया.

प्राण ने अपने चार दशक से भी ज्यादा लंबे सिने करियर में लगभग 350 फिल्मों मे अपने अभिनय का जौहर दिखाया. प्राण के मिले सम्मान पर यदि नजर डालें तो अपने दमदार अभिनय के लिए वह तीन बार सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित हुए हैं. साल 2013 में प्राण को फिल्म जगत के सर्वश्रेष्ठ सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार दिया गया था.


फिल्म 'डॉन' में काम करने के लिए उन्हें नायक अमिताभ बच्चन से ज्यादा रकम मिली थी। अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को प्रभावित करने वाले प्राण 12 जुलाई 2013 को इस दुनिया को अलविदा कह गये.

सदी के खलनायक प्राण की जीवनी भी लिखी जा चुकी है. जिसका टाइटल 'एंड प्राण' रखा गया है. बुक का ये टाइटल इसलिए रखा गया है क्योंकि प्राण की अधिकतर फिल्मों में उनका नाम सभी कलाकारों के पीछे 'प्राण' लिखा हुआ होता था. कभी-कभी उनके नाम को इस तरह पेश किया जाता था 'अबोव आल प्राण'.



Tags:    

Kirti ( 2104 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top