Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नेता मस्त राजनीति में, किसान ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

 Anurag Tiwari |  2016-09-03 14:33:47.0

farmer suicide, kanpur, crime, relief packageतहलका न्यूज ब्यूरो

कानपुर. यूपी में किसानों की आत्महत्या की खबर आम हो चली है. साथ ही आम हो चला है राज्य और केंद्र सरकार की एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का खेल. किसानों के लिए पैकेज की घोषणा हर जनसभा में होती है लेकिन धरातल पर हकीकत यह है कि किसान आर्थिक तंगी से बेहाल हैं, आत्महत्या करने पर मजबूर हैं. शनिवार को कानपुर में इसी सिलसिले को एक किसान ने आगे बढ़ा दिया

पुलिस के अनुसार महाराजपुर थानाक्षेत्र में गंगागंज गांव में रहने वाले रंजीत सिंह उर्फ हेमंत किसानी करके परिवार का जीवन यापन करता था. लेकिन पहले सूखे और अब अतिवृष्टि ने फसल चौपट कर दी, जिसके चलते उसकी आर्थिक स्थिति ख़राब हो गई.


रंजीत की पत्नी नीरज ने बताया कि उसने परिवार के भरन-पोषण की चिंता के ने खाना-पीना भी छोड़ दिया। शुक्रवार की रात उसके पति ने कहना भी नहीं खाया और कमरे में सोने की बात कहकर चला गया.  शनिवार की सुबह कमरे में रंजीत के न होने पर परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरु की.  इस बीच किसी ने सूचना दी कि रंजीत का शव गाँव के पास रेलवे लाइन पर पड़ा है. रंजीत की मौत की खबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया. एसओ जयप्रकाश शर्मा ने बताया कि पीड़ित घरवालों के मुताबिक किसान आर्थिक तंगी से जुझ रहा था जिसके चलते उसने आत्महत्या की है.

रंजीत के  परिवार में उसकी पत्नी नीरज, दो बेटियां काजल और सोना हैं. नीरज ने बताया कि करीब तीन महीने से घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं चल रही थी.



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top