Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अपनरा डी प्लांट बिजली परियोजना में लगी आग, 150 करोड़ से ज्यादा का नुकसान

 Tahlka News |  2016-04-21 13:39:41.0

1d288097-2bb4-47de-ae27-da207d782916तहलका न्यूज ब्यूरो
सोनभद्र, 21 अप्रैल.   मुख्यमंत्री की अति महत्वाकांक्षी उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम की एक हजार मेगावाॅट की अनपरा डी परियोजना में आज भीषण आग लग गयी| आग  से करोड़ो रूपये की कीमती पार्ट्स जलकर खाक होने का कयाश लगाया जा रहा है। आग पर काबू पाने के लिये ऊर्जांचल की विभिन्न परियोजनाओं से दो दर्जन फायरविंग लगाये जाने के बाद आग पर काबू पाया गया। आग पर काबू पाने के लिए मिर्जापुर व चन्दौली से भी फायरविंग को भी बुलाया गया था, जिसे बाद में वापस भेज दिया गया।अनपरा डी परियोजना की मुख्य कार्यदायी संस्था बीएचईएल कम्पनी के स्टोर यार्ड में  अचानक आग लगने से पूरे परियोजना में अफरा-तफरी मच  गयी तथा कम्पनी के कर्मचारियों ने तत्काल जिसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी साथ ही मामले की जानकारी एमडी एपी मिश्र  द्वारा जिलाधिकारी सोनभद्र को अवगत कराया गया। आनन फानन में जिलाधिकरी के निर्देश पर उपजिलाधिकारी डाॅ. विश्राम सिंह,  क्षेत्राधिकारी पिपरी सीतांशु यादव ने परियोजना में लगे आग पर काबू पानें के लिये एनसीएल की ककरी, बीना, खडि़या, जयन्त, कृष्णशीला, एनटीपीसी रिहन्द नगर, विंध्यनगर, शक्तिनगर, व हिण्डालको रेनूकुट, रेनूसागर, अनपरा थर्मल पाॅवर के साथ ही लैंको पाॅवर से बीस फायरविंग से अधिक गाडि़यों को लगाकर,सीआईएसएफ के जवानों द्वारा घण्टों मशक्कत के बाद किसी तरह आग पर नियंत्रण पाया जा सका।

आपको बताते चलें के भीषण आग की लपटों से आग बुझाने में लगें लोंगो को बड़ी ही कठिनाईयों को सामना करना पड़ा, चारो तरफ धुंध ही धुंध फैला हुआ था। जिससे अधिकारी भी इधर-उधर भागते नजर आ रहें थें। मौके पर आग बुझानें में लगें सीआईएसएफ के जवानों परियोजना के आलाधिकारियों उपस्थित रहें। इस सम्बंध में परियोजना प्रबंधन ने बताया कि स्टोर यार्ड में लगी आग से करोड़ों रूपये के कीमती पाटर्स जलकर खाक होने की आशंका जतायी है।  अगर प्रसासनिक सक्रियता नहीं होती तो निश्चित तौर पर अनपरा सी एव डी दोनों परियोजना आग के हवाले हो सकती थी। गौरतलब है कि बीएचईएल की अधिकारियों की घोर लापरवाही से अनपरा डी प्लांट में स्थित बीएचईएल के यार्ड में भीषण आग लगने से भारी नुकसान हुआ है। यहां आग लगने के बाद भी बीएचईएल के अधिकारी मौके पर न हो कर अपने आफिस में ही बैठे रहे जबकि मौके पर आठ से दस दमकलों द्वारा आग पर काबू पाये जाने की कोशिश की जा रही थी। यार्ड में बढ़ी हुई झाड़ीयों की वजह से आग लगने की आशंका व्यक्त की जा रही है। यह भी आशंका है कि बीएचईएल के अधिकारी इन्सुरेंस क्लेम लेने के लिए स्वंय तो नही आग लगवाई। इसकी उच्च स्तरीय जाँच की आवश्यकता है। इस वावत जीएम बीएचईएल बी के रॉय से पूछने पर बताया की लगभग 50 करोड़ की नुकसान होने की सम्भावना है। उपजिलाधिकारी डॉ विश्राम सिंह के सक्रियता के बाद भीषण आग पर  घण्टो भर की मशक्कत के बाद काबू पा लिया गया। एसडीएम डॉ विश्राम ने कहा की करोड़ो रुपयो का नुकसान हुआ है। मौके पर एसडीएम डॉक्टर विश्राम सिंहके अलावा  पुलिस अधीक्षक रामलाल वर्मा के निर्देश पर पहुचे अपर पुलिस अधीक्षक शम्भूसरण , क्षेत्राधिकारी शीतांशु यादव के अथक प्रयास से अनपरा डी ही नहीं अनपरा सी को भी आग के हवाले से बचाया प्रशासनिक सक्रियता से आग पर काबू पाने की जबरदस्त चर्चा रही।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top