Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मथुरा-पलवल के बीच शुरू हुआ टैल्गो ट्रेन का ट्रायल

 Girish Tiwari |  2016-07-09 07:10:05.0

 शुरू हुआ टैल्गो ट्रेन का ट्रायल

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
मथुुरा. मथुरा-पलवल के बीच शुरू हुआ टैल्गो ट्रेन का ट्रायल. 
स्पेन में बनी टैलगो ट्रेन के दूसरे चरण का ट्रायल शनिवार को मथुरा स्टेशन से शुरू हुआ। इससे पहले पिछले महीने बरेली और मुरादाबाद स्टेशनों के बीच परीक्षण किया गया था।  बता दें कि डिस्क ब्रेक के साथ यह भारत की पहली ट्रेन है। भारत ने यह ट्रेन स्पेन से खरीदी है।


 शुरू हुआ टैल्गो ट्रेन का ट्रायल


रेलवे अधिकारियों के अनुसार, इस ट्रेन को मथुरा-पलवल रूट पर 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाया जाएगा। फिलहाल यह ट्रेन गतिमान एक्‍सप्रेस की तरह तीसरे ट्रैक पर चलेगी। वहीं, पलवल-मथुरा के बीच चौथे ट्रैक का काम पूरा होने पर 200 km/h की रफ्तार से टेलगो ट्रेन चल सकेगी। बता दें कि अब तक टेलगो के कोच भारतीय इंजन के साथ करीब 115 कीमी प्रति घंटा की रफ्तार से फर्राटा भर रहे थे। इसके साथ ही इस ट्रेन को चलाने में 30 फीसदी तक ऊर्जा भी बचेगी। रेलवे ने हाल में इस ट्रेन की पटरियों के लिए 668 करोड़ रुपए का बजट भी मंजूर किया है। रेलवे ने स्पेन की टेलगो कंपनी से एल्यमुनियम के हल्के 9 कोच इंडियन मंगवाए हैं।

नौ डिब्बे वाली टैलगो ट्रेन परीक्षण के दौरान रेलवे अधिकारियों और रिसर्च डिजाइनस एंड स्टैंडर्ड ऑर्गनाईजेशन (आरडीएसओ) के विशेषज्ञों सहित स्पेन के अधिकारी ट्रेन में मौजूद रहेंगे।

टैलगो डिब्बे हल्के हैं और इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि यह मोड़ पर भी रफ्तार कम किये बिना दौड़ सकती है। अधिकारी ने बताया, ‘‘यह परीक्षण 26 जुलाई तक जारी रहेगा और परीक्षण चालन के दौरान विभिन्न पहलूओं का ध्यान रखा जाएगा।

वहीं, टेलगो की टेक्निकल एक्सपर्ट ऐलेना गर्शिया के अनुसार, इस सेमी हाई स्पीड ट्रेन को 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाया जा सकता है। अगर भारत में सेफ ट्रैक मिले तो ये ट्रेन अपनी रेगुलर स्पीड (200) से ज्यादा तेज भी चल सकती है। उनका कहना है, ‘इस ट्रेन के पहिये हाइड्रोलिक प्रेशर से संचालित हैं। इन चक्कों में डिस्क ब्रेक लगे हैं। इस कारण अचानक ब्रेक लगाने पर टेलगो चंद सेकेंड्स में ही रुक जाती है, जिससे हादसों की आशंका नहीं रहती।

ट्रेन की खासियत

1. ट्रेन की सीटें विमान की तरह बनाई गई हैं। इसमें हर यात्री के लिए टेबल, रीडिंग लाइट ऑडियो एंटरटेंमेंट करने जैसी सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

2. टेलगो ट्रेन के हर कोच में नहाने की व्यवस्था और रेस्टोरेंट भी उपलब्ध है।

3. ट्रेन के कोच पूरी तरह से हाईस्पीड में चलने के लिय बनाए गए हैं। इनका वजन बहुत कम है, जिससे मुड़ते समय स्पीड को कम करना ज़रूरी नहीं है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top