Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ऑरलैंडो के गे क्लब में गोलीबारी, मरने से पहले शूटर ने कहा- 'IS से है मेरा संबंध'

 Girish Tiwari |  2016-06-13 05:42:44.0



proxy

वाशिंगटन, 12 जून. अमेरिका के ऑरलैंडो के समलैंगिक नाइटक्लब में रविवार को हुई गोलीबारी में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 53 अन्य घायल हो गए। ऑरलैंडो के मेयर बडी डायर ने यह जानकारी दी। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसे आतंकी हमला बताया है। अमेरिकी इतिहास में शूटआउट की यह सबसे बड़ी वारदात है। 9/11 के बाद अमेरिका में यह सबसे बड़ा हमला है।


कई समाचार संस्थानों ने फ्लोरिडा राज्य में स्थित इस क्लब में गोलीबारी करने वाले की पहचान 29 वर्षीय उमर मतीन के रूप में की है। वह फ्लोरिडा के फोर्ट पाएर्स का रहने वाला था।


हमले के दौरान शूटर मतीन ने पुलिस को फोन करके बताया कि उसका संबंध आतंकी संगठन IS से है।


ऑरलैंडो के मेयर डायर ने एक संवाददाता सम्मेलन में अंधाधुंध गोलीबारी में 50 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की। इससे पहले मरने वाले लोगों की संख्या 20 बताई गई थी।


वाशिंगटन पोस्ट ने कहा कि गोली चलाने वाले की पहचान की पुष्टि उसके रिश्तेदारों और कानून लागू करने वाले अधिकारियों ने की है।


बीबीसी की रपट के मुताबिक, गोलीबारी के लगभग तीन घंटे बाद पुलिस पल्स क्लब पहुंची और उसने हमलावर को मार गिराया। हमलावर ने 30 लोगों को बंधक बना रखा था।


पुलिस ने इसे आतंकवादी घटना बताया, लेकिन साथ में यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि यह घरेलू आतंकवाद की घटना है या अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद की।


क्लब के अंदर मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने इसका अराजकता की स्थिति के रूप में उल्लेख किया। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।


प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, "पार्किंग में हर जगह शव ही शव थे। पुलिस लोगों को लाल और पीले रंग में टैग कर रही थी, ताकि यह पता करने में आसानी हो सके कि किसकी पहले मदद करनी है। पैंट नीचे थी, कमीजें बाहर निकली हुई थी। गोली कहां लगी है, इसका पता लगाया जा रहा था। हर जगह खून ही खून था।"


घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज में दर्जनभर वाहनों को आते और लोगों का रास्ते में उपचार होते देखा जा सकता है।


कुछ घायलों को पुलिस की गाड़ियों में ऑरलैंडो क्षेत्रीय चिकित्सा केंद्र में ले जाया गया।


एक महिला ने बताया कि उसे क्लब के भीतर मौजूद उसकी बेटी से संदेश और फोन आया। उसने बताया कि उसे बाजू में गोली लगी है।


कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उन्होंने घटनास्थल से 40-50 गोलियों की आवाजें सुनी।


क्लब में 100 से अधिक लोग मस्ती कर रहे थे, और इसी दौरान हमलावर ने स्थानीय समयानुसार रात लगभग दो बजे गोलीबारी शुरू कर दी।


एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, "हमने कई बार गोलियां चलने की आवाजें सुनी। जिस कमरे में मैं था, वहां लोग फर्श पर लेट गए। मैं हमलवार को नहीं देख पाया। कुछ देर के लिए गोली की आवाज आनी रुक गई। हम लोगों में से एक दल उठा और बाहर गया। उसके बाद हमें बाहर निकलने का रास्ता मिला. मैं दौड़ गया।"


वर्ष 2015 में अमेरिका में गोलीबारी की ऐसी घटनाएं जिनमें चार या उससे अधिक लोग मारे गए या घायल हुए 372 हुई थीं। उनमें कुल 475 लोगों की मौत हुई और 1870 घायल हुए थे।


ऑरलैंडो में 22 वर्षीया गायिका क्रिस्टिना ग्रिमी की भी कंसर्ट के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई।  (आईएएनएस)|


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top