Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

प्रमोशन में आरक्षण के लिए चार बार पलटा गया सुप्रीम कोर्ट का फैसला

 Vikas Tiwari |  2016-09-20 14:10:59.0

प्रमोशन में आरक्षण

तहलका न्यूज़ ब्यूरो 

लखनऊ. सर्वजनहिताय संरक्षण समिति ने बताया कि भाजपा, कॉंग्रेस जैसे राष्ट्रीय राजनीतिक दलों पर जनमत का दबाव बना कर उनसे पूँछा जाएगा कि वे बताएं कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के प्रति सम्मान रखते है या नहीं । ध्यान रहे प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णयों को निष्प्रभावी करने हेतु विगत में चार बार संविधान संशोधन किये जा चुके हैं जिसमे तीन संशोधन भाजपा सरकार ने और एक संशोधन काँग्रेस सरकार ने किया है। अब 117 वें संविधान संशोधन बिल के जरिये पांचवीं बार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटने की कोशिश हो रही है।


यूपी के 18 लाख कर्मचारियों - अधिकारियों और 06 लाख शिक्षकों के संगठन सर्वजनहिताय संरक्षण समिति उप्र के आह्वान पर पदोन्नति में आरक्षण देने हेतु 117 वां संविधान संशोधन बिल पारित कराने की कोशिश के विरोध में 16 सितम्बर से चल रहे " जनजागरण अभियान " के अन्तर्गत 21 सितम्बर को लखनऊ में आम सभा आयोजित की गयी है इसके साथ ही प्रदेश भर में जिला स्तर पर जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन देकर इस मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करने की माँग की जा रही है । ज्ञापन दो अभियान 16 सितंबर से 30 सितंबर तक चलेगा और इस दौरान प्रदेश के सभी जिलों में जनसभाएं कर आम लोगों को पदोन्नति में आरक्षण की चल रही वोट की राजनीति के सच से अवगत कराया जायेगा । लखनऊ में हाईडील फील्ड हॉस्टल में सायं 05 बजे आम सभा होगी |

सर्वजनहिताय संरक्षण समिति उप्र के अध्यक्ष शैलेन्द्र दुबे और प्रमुख पदाधिकारियों ए ए फारूकी , एच एन पाण्डेय , डी सी दीक्षित , क़ायम रज़ा रिज़वी ,वाई एन उपाध्याय ,राजीव श्रीवास्तव , अजय सिंह , रामराज दुबे , कमलेश मिश्र , पवन सिंह ,पी के सिंह ,देवेंद्र द्विवेदी ,डॉ मौलेंदु मिश्र ,पारस नाथ पाण्डेय ,ए पी सिंह , डा आर के दलेला , डॉ आर बी सिंह ,सर्वेश शुक्ल , अजय तिवारी , ज्ञानेश्वर ,आर पी उपाध्याय , आर के पाण्डेय ,त्रिवेणी मिश्र , एस पी सिंह , प्रेमा जोशी ,मो नूर आलम ,यू पी सिंह , समरजीत सिंह ने बताया कि " जनजागरण अभियान " का मुख्य उद्देश्य यह है कि उप्र के विधान सभा चुनाव के पहले भाजपा , कॉंग्रेस सहित सभी दल स्पष्टतया बताएं कि उनकी पार्टी पदोन्नति में आरक्षण की समर्थक है या विरोध में है जिससे उप्र के 18 लाख कर्मचारी - अधिकारी और 06 लाख शिक्षक व् उनके परिवारजन यह निर्णय ले सकें कि वे उन्हें वोट दें या न दें ।
उन्होंने बताया कि अभियान के अन्तर्गत शहीद ए आजम भगत सिंह के जन्म दिन 28 सितंबर को लखनऊ में विशाल प्रांतीय सम्मलेन होगा और 28 सितंबर से 31 अक्टूबर (सरदार पटेल के जन्म दिन ) तक प्रांत भर में केंद्रीय पदाधिकारियों की जनसभाएं होंगी और इस मुद्दे को आम लोगों के बीच ले जाया जाएगा । अभियान में मध्य प्रदेश , गुजरात ,राजस्थान , बिहार , झारखण्ड , छत्तीसगढ़ , हरयाणा , पंजाब , उत्तराखण्ड आदि प्रांतों के कर्मचारी नेता हिस्सा लेंगे ।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top