Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

FTII विवाद: 11 फिल्‍मकारों ने लौटाया आवॉर्ड

  |  2015-10-28 17:36:10.0

ftii1


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो 


मुंबई, 28 अक्‍टूबर. भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (FTII) के अनशनकारी विद्यार्थियों ने बुधवार को अपना अनशन खत्म कर दिया। वहीं छात्रों के समर्थन में दिवाकर बनर्जी समेत 11 फिल्मकारों ने अपने अवॉर्ड लौटा दिए हैं। इस बीच एफटीआईआई अध्यक्ष गजेंद्र चौहान ने संस्थान के छात्रों के हड़ताल समाप्त करने के निर्णय का आज स्वागत किया और कहा कि अब वह अपने काम और सकारात्मकता से उनका दिल जीतने का प्रयास करेंगे।


बता दें कि संस्थान के विद्यार्थी अभिनेता और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य गजेंद्र चौहान को इसका अध्यक्ष बनाए जाने के विरोध में 12 जून से अनशन पर थे। FTII के विद्यार्थियों ने भले अपना अनशन खत्म कर दिया हो, लेकिन उनका कहना है कि गजेंद्र की नियुक्ति का विरोध जारी रहेगा।


11 कलाकारों ने लोटाया अवॉर्ड

जिन फिल्मकारों ने अपने अवॉर्ड लौटाए हैं उनमें प्रतीक वत्स, विक्रांत पवार, दिबाकर बनर्जी, आनंद पटवर्धन, निशथ जैन, कीर्ति नखवा, हर्षवर्धन कुलकर्णी, हरी नायर, राकेश शर्मा, इंद्राणी लहिड़ी, लीकपिका सिंह दरई शामिल हैं।


dibakar-banerjee-759


आसान नहीं पुरस्‍कार लौटाना 


इस मौके पर दिबाकर बनर्जी ने कहा कि मैं गुस्से, आक्रोश में यहां नहीं आया हूं। ये भावनाएं मेरे भीतर लंबे समय से हैं। मैं चाहता हूं कि एफटीआईआई में जो कुछ हो रहा है उसके बारे में सबको पता चले। ये राजनीति से प्रेरित नहीं हैं लेकिन मैं ये अवॉर्ड वापस लौटा कर भारतीयों का ध्यान इस मुद्दे की ओर खींचना चाहता हूं। खोसला का घोसला के लिए मिला अपना पहला राष्ट्रीय पुरस्कार लौटाना आसान नहीं है। यह मेरी पहली फिल्म थी और बहुत सारे लोगों के लिए मेरी सबसे पसंदीदा फिल्म थी। वहीं, अन्य फिल्मकारों ने कहा कि उन्होंने छात्रों के मुद्दों के निवारण और बहस के खिलाफ असहिष्णुता के माहौल को दूर करने में सरकार की ओर से दिखाई गई उदासीनता के मद्देनजर ये कदम उठाए हैं।


images


पटवर्धन- जारी रहेगा विरोध 


जानेमाने डाक्यूमेंटरी निर्माता पटवर्धन ने कहा कि सरकार ने अति दक्षिणपंथी धड़ों को प्रोत्साहित किया है। उन्होंने कहा, मैंने इस तरह से एक समय पर बहुत सारी घटनाएं होती नहीं देखी हैं। क्या होने वाला है, यह उसकी शुरुआत है और मुझे लगता है कि पूरे देश में लोग अलग अलग तरीकों से प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एफटीआईआई के छात्रों ने आज अपनी 139 दिनों पुरानी हड़ताल खत्म कर दी, हालांकि वे संस्थान के अध्यक्ष पद पर गजेंद्र चौहान की नियुक्ति का विरोध एवं उनको हटाने की मांग जारी रखेंगे।


राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को भेजा पत्र 


फिल्मकारों ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी भेजा है। पत्र में कहा गया है, हम वह सम्मान लौटाने को विवश हो रहे हैं जिसे हमें सरकार ने प्रदान किया। हत्याओं में भूमिका निभाने वाली ताकतों से पूछताछ किए बिना मौतों पर संवेदना प्रकट करना, हमारे देश को नुकसान पहुंचा रही बुरी ताकतों को मौन स्वीकार्यता है। उन्होंने कहा, फिल्मकार के तौर पर हम एफटीआईआई के छात्रों के साथ खड़े हैं तथा हम प्रदर्शन का पूरा बोझ उन्हें अपने कंधे पर नहीं लेने देने को प्रतिबद्ध हैं।


TH13_CHAUHAN_24373_2437321f

क्‍या कहा गजेंद्र चौहान ने 

गजेंद्र चौहान को धारावाहिक महाभारत में युधिष्ठिर की उनकी भूमिका के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा, जीवन चुनौतियों से भरा हुआ है। मैं उन्हें स्वीकार करता हूं, यह एक चुनौती है और मैं यह जिम्मेदारी उठाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करूंगा। मेरा प्रयास छात्रों के साथ अच्छे संबंध बनाने का होगा। उन्होंने कहा कि वह पुणे स्थित संस्थान में जल्द ही संचालन परिषद का गठन करेंगे।उन्होंने कहा, मैं छात्रों के लिए बहुत प्रसन्न हूं। मैं प्रसन्न हूं कि उन्होंने यह निर्णय किया है। मुझे भरोसा है कि भविष्य में हम एफटीआईआई में एक संचालन परिषद का गठन करेंगे और वहां काम शुरू करेंगे। उन्होंने कहा, मैं छात्रों, संचालन परिषद और सभी को साथ लेकर चलना चाहता हूं। केवल एक व्यक्ति के लिए काम करना संभव नहीं, यह एक टीम कार्य होता है। हमारी संचालन परिषद सभी के साथ मिलकर काम करेगी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top