Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मेट्रो पर सवार होकर आयेंगे लखनऊ में गणपति

 Sabahat Vijeta |  2016-09-04 13:01:38.0

ganesh pooja


लखनऊ. बाबूगंज स्थित रामाधीन सिंह उत्सव भवन मैदान पर गणेश पूजा की तैयारियां अपने अंतिम चरण में हैं. कोलकाता के कारीगर पिछले 40 दिन से लगातार 15 हजार वर्ग फीट में कमल के फूलनुमा वातानुकूलित व वाटरप्रूफ पांडाल को बनाने में जुटे हैं. कोलकाता चंदन नगर की लाइटों से पूरा पांडाल जगमगाएगा. तो माहौल देखने लायक हो जायेगा. पूजा कमेटी के संरक्षक भारत भूषण ने आज कार्यक्रम स्थल पर कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी.


कमेटी के महामंत्री सतीश अग्रवाल ने बताया कि पांडाल में महिलाओं और पुरूषों के बैठने की अलग-अलग व्यवस्था है. सुरक्षा के लिहाज से 40 सीसीटीवी कैमरे पूरे परिसर और पार्किंग से लेकर सड़क तक लगाए गए हैं. पुलिस प्रशासन के अलावा बड़ी संख्या में निजी सिक्योरिटी गार्ड मौके पर मुस्तैद रहेंगे.


कमेटी के अध्यक्ष राजेश बंसल ने बताया कि प्रसिद्ध शिल्पकार श्रवण प्रजापति द्वारा गंगाजी की मिट्टी से गणपति की लगभग छह फुट ऊंची मूर्ति तैयार की गई है. मुकुट मिलकर यह मूर्ती करीब साढ़े 9 फुट की हो जायेगी. उन्होंने बताया कि पांडाल का 10 करोड़ का इंश्योरेंस है. जिसमें भक्त, भगवान के जेवरात आदि शामिल हैं.


ganesh pooja-2


गणेश पूजा के अवसर पर स्वागत कक्ष में एक चिट्ठी व पेन निशुल्क मिलेगा. जिस पर भक्त 108बार ॐ गंग गणपते नमः लिखकर उसे वहीं जमा कर देंगे. गणपति बप्पा की मूर्ति के साथ इन चिट्ठियों को भी विसर्जित कर दिया जाएगा.


पूजा कमेटी के संरक्षक भारत भूषण ने बताया कि गणेश प्रतिमा विसर्जन इस बार भी भूमि में ही होगा. उन्होंने बताया कि प्रतिमा के भूमि विसर्जन का फैसला इसलिए किया गया ताकि गोमती नदी प्रदूषण मुक्त रहे. उन्होंने बताया कि जिला और पुलिस प्रशासन इस बार अग्रसेन घाट पर गणपति बप्पा का भूमि विसर्जन की अनुमति नहीं दे रहा है. प्रशासन दूर-दराज इलाके में विसर्जन की अनुमति के लिए कह रहा है. गणपति बप्पा के भूमि विसर्जन शोभा यात्रा में 10 हजार भक्त हर बार शामिल होते हैं. कहीं दूर विसर्जन की अनुमति मिलने से शोभायात्रा की दूरी लंबी हो जाएगी. जिससे भक्तों और प्रशासन को भी दिक्कत होगी.


उन्होंने बताया कि शहर के प्रतिष्ठित मिष्ठान भंडारों द्वारा भोग हेतु मिठाई प्रतिदिन निशुल्क दी जाएगी. एक भक्त द्वारा 10 दिनों तक भगवान को चढ़ने वाले फल दिए जाएंगे. उन्होंने बताया कि शीतल पेयजल श्री दादी जी मंगल परिवार समिति की ओर से निशुल्क मिलेगा. रोजाना 30 से 35 हजार भक्तों के आने का अनुमान है.


पांच थीम विकास, आतंकवाद, क्लीन इंडिया-ग्रीन इंडिया, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और अनेकता में एकता पर नृत्य नाटिका का रोजाना मंचन होगा. थीम में यह भी रहेगा कि लखनऊ शहर में बप्पा मेट्रो पर सवार होकर आए. गणपति पूजन में शाम के सभी सांस्कृतिक कार्यक्रम संजय नवीन बंधु कोलकाता व सिद्धू महाराज लखनऊ द्वारा होंगे.


ganesh pooja-3


समिति द्वारा इस आयोजन के सफल 10 वर्ष पूरे किए जा चुके हैं. यह 11वां वर्ष है. आरती सुबह नौ बजे से10 बजे तक चलेगी. दिन भर भक्तों के लिए दरबार खुला रहेगा. पांडाल की पेंटिंग शीशा मुक्त होगी. जिससे भक्तों को नुकसान नहीं होगा.


भारत भूषण ने बताया कि यह गणपति पूजन यूपी में सबसे विशाल होता है. सभी आयोजन श्री गणेश प्राकट्य कमेटी की ओर से आयोजित होंगे. पहले दिन मूर्ति स्थापना श्रृंगार एवं पूजन सुबह 9.30 बजे होगा. श्रृंगार एवं आरती रोजाना सुबह 10 बजे और शाम छह बजे होगा. भजन एवं नृत्य लीलाएं रोजाना शाम सात बजे होगी. 15 सितंबर को सुबह 10 बजे से शोभा यात्रा निकाली जाएगी.


विशेष आकर्षण में छह सितंबर रात आठ बजे गजरा होगा. आठ सितंबर को दोपहर 12 बजे सिन्दूराभिषेक होगा. छप्पन भोग 10 सितंबर की रात आठ बजे से होगा. पाशाकुंश पूजन 11 सितंबर को दोपहर 12 बजे होगा. दूर्वाभिषेक 13 सितंबर को दोपहर 12 बजे से होगा। जबकि 14 सितंबर को दोपहर 12 बजे महाभिषेक और रात आठ बजे महामोदक का आयोजन होगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top