Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बदनाम GB Road में सिसकती लड़कियाँ और पैसो में खेलते KING PIN

 Tahlka News |  2016-08-31 07:53:14.0

GB raod

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

महज कुछ रुपयों के लिए जिस्म बेचती लड़कियों को सभी समाज तो हिकारत भरी नजरों से देखता ही है साथ ही इनकी खुद की जिंदगी भी 10*10 के कमरे की सीलन भरी दीवारों में कैद हो जाती है.

दिल्ली के बदनाम जीबी रोड इलाके में चल रहे जिन्दा गोश्त के व्यापार के किंग पिन की गिरफ़्तारी के बाद इन कोठो की असलियत खुली है. इस किंग पिन और उसकी बीबी ने मिल कर जो धंधा फैलाया था उसने जीबी रोड के 80 प्रतिशत कोठो को अपने कब्जे में कर लिया था.

आफाक और उसकी पत्नी सायरा बानो ने मिल कर इस धंधे से 100 करोड़ से ज्यादा रुपये बनाये थे. आफाक राजमिस्त्री का काम करने दिल्ली आया था और फिर जिस्मफरोशी के धंधे ने उसे अरबपति बना दिया. पिछले दस साल में आफाक ने गांव में करीब सौ बीघा जमीन , कई बाग खरीद लिए और बाप के नाम पर आलीशान हवेली गांव में खड़ी कर दी.

आफाक ने दिल्ली के पॉश इलाकों में भी कई अलीशान कोठियां, फार्म हाऊस और होटल खरीद लिए. ये सारी जायदाद उसने गरीबी से मारी हुयी लड़कियों की अस्मत का सौदा कर के बनायीं थी.

aafak sayara

झारखंड, उड़ीसा से ले कर नेपाल तक फैले दलाल पहले लड़कियों को दिल्ली में अच्छी जॉब, घुमाने या शादी करने का झांसा देकर लाते थे और फिर उन्हें इन कोठों में ले जाकर बेच दिया जाता था. इस काम के लिए दलाल को एक लाख रुपये से लेकर दो लाख रुपये मिलते थे. आफाक और सायरा इस पैसो का 8 पर्सेंट से लेकर 10 पर्सेंट ब्याज जोड़ते थे जो लड़कियों को जिस्म फरोशी से कमाँ कर देना होता था. ब्याज का शिकंजा इतना कड़ा था कि कई लडकिय बूढी हो जाती थी मगर ब्याज की रकम नहीं चुका पाती थी क्योंकि उनकी सारी कमाई तो कोठो की मैनेजर के पास ही जाती थी जिसमे से लड़की को हिस्सा मिलता था.

जबरन देह व्यापार के धंधे में फसने के बाद अगर लड़की आनाकानी करती थी तो उसे न सिर्फ मसल मैन्स द्वारा पीटा जाता था बल्कि नशीली दवाओं का आदि भी बना दिया जाता था. इस चंगुल में फंसी लड़की पूरी तरह से टूट जाती थी, तो वह देह व्यापार का धंधा करने में ही अपनी सलामती समझती थी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top