Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पारा गिरने से लग रही भगवान को भी ठंड, ओढ़ाया जा रहा है कम्बल और शाल

 Abhishek Tripathi |  2017-01-01 15:19:10.0

varanasi, वाराणसी, बनारस, ठंड, भगवान, काशी, मंदिर


तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. जहां लगतार तापमान गिरने से पूर्वांचल में ठंड का प्रकोप शुरू हुआ है, वहीं आम इंसान के साथ-साथ भगवन भी ठंड की चपेट में आ गए हैं.

इंसानों के साथ-साथ अब भगवान के लिए भक्त कंबल और रजाई का इंतजाम कर रहे हैं . चौंकिए नहीं, यह सच है महादेव की नगरी में भगवान को भी ठंड लग रही है.

gods-in-varanasi-feel-the-cold-4मौसम में हुए अचानक परिवर्तन के चलते शीत लहर कंपकंपा रही है. एक तरफ जहां शहर में पब्लिक अपने लिए गर्म कपडे खरीदकर पहन रही है, वहीं कुछ भक्त वहीं भगवान के लिए भी गर्म कपड़े की खरीदारी कर रहे हैं.

varanasi, वाराणसी, बनारस, ठंड, भगवान, काशी, मंदिरमंदिरों में भगवान को भी कंबल और शॉल ओढ़ाई जा रही है. चाहे वह चिंतामणि गणेश हों या फिर साईं बाबा, मंदिरों में भक्तों की लाइन अपने भगवान को गर्म कपड़े पहनने के लिए भी लग रही है.

varanasi, वाराणसी, बनारस, ठंड, भगवान, काशी, मंदिरवाराणसी की रहने वाली सुमन और और दीपिका बताती हैं कि भगवान् अगर भक्तों का ख्याल रखते हैं तो काशी में भगवान का भी ध्यान रखा जाता है. उन्होंने बताया कि यह पहली बार नहीं हो रहा है कि मंदिरों में भगवान को गर्म कपड़े चढ़ाए या ओढ़ाए जा रहे हों. उन्होंने बताया कि हर साल ठंड के मौसम में जैसे ही शीत लहर बहना शुरू होती है मंदिरों में गर्म कपड़े चढ़ाने और भगवान को शाल या कम्बल ओढ़ाने का सिलसिला शुरू हो जाता है.

varanasi, वाराणसी, बनारस, ठंड, भगवान, काशी, मंदिरकाशी नगरी के प्रसिद्ध चिंतामणि गणेश मंदिर के पुजारी सुब्बा राव शास्त्री बताते हैं कि मान्यता है कि जब शीतलहर शुरू होती है तो अपने से पहले भगवान को गर्म कपड़े चढ़ाए जाते है. भक्तों का मानना है कि जब आम इंसान को ठंड लगती है तो जीवन देने वाले ईश्वर भी ठंड महसूस होती है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top