Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

तो इसलिए नहीं छाप रही सरकार पूरे नए नोट !

 Tahlka News |  2016-12-17 12:22:14.0

2000-note

तहलका न्यूज ब्यूरो

नई दिल्ली. नगदी की कमी से जूझ रहे भारत की चिंता इस बात को ले कर है कि आखिर सरकार पर्याप्त मात्र में नए नोट क्यों नहीं छाप रही है , मगर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेतली ने अब यह साफ़ कर दिया है कि आखिर सरकार पर्याप्त मात्र में नए नोट क्यों नहीं छाप रही है.

जेटली ने कहा है कि जरूरी नहीं कि नोटबंदी के कारण चलन से बाहर हुई 15.44 लाख करोड़ को को नए नोटों से बदला जाए. सरकार की योजना है कि इस कमी की भरपाई डिजिटल सौदों के जरिये की जाए. बीते दिनों पीएम ने भी देश में कैशलेस इकॉनमी बनाने की योजना का संकल्प किया था. ऐसे में अब माहौल ऐसे बनाया जायेगा कि डिजिटल करंसी और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों को बढ़ावा मिले.

अरुण जेतली ने इसका खुलासा फिक्की की 89 वीं सलाना बैठक में किया. उन्होंने कहा, 'अगर हम बढ़ती हुई अर्थव्यवस्थाओं में भारत को देखें तो मुझे लगता है कि इसमें दुनिया के अन्य देशों से ज्यादा अच्छे बदलाव आ रहे हैं. कुछ साल पहले तक भारत को दुनिया की पांच अस्थिर अर्थव्यवस्थाओं में गिना जाता था. आज उभरती हुई शक्तियों में भारत को गिना जा रहा है.'

हालाकि जेटली ने यह भी कहा कि रिजर्व बैंक रोज नए नोट सप्लाई कर रहा है और जल्द ही मुश्किल खत्म हो जाएगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top