Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जानिए क्यों, मेडल जीतने के बाद भी मिली इस खिलाड़ी को इतनी नफरत?

 Girish Tiwari |  2016-08-20 04:43:35.0

Arthur Nory, Brazil, Brasil, Ri Olympics, Rio 2016रियो डी जनेरियो. कहा जाता है इंसान किसी को भी धोखा दे ले लेकिन उसके कर्म उसका पीछा नहीं छोड़ते। यही कहावत चरितार्थ हो रही है एक ब्राज़ीलियाई खिलाड़ी के साथ। मेज़बान देश और इस खिलाड़ी के ब्रोंज मेडल जीतेने के बाद भी इस खिलाड़ी के लिए कोई ताली बजाने को तैयार नही हुआ।

मेजबान ब्राजील के जिम्नास्ट आर्थर नोरी ने रियो ओलम्पिक की फ्लोर एक्सरसाइज स्पर्धा में कांस्य पदक जीता तो उम्मीद थी कि उनका तालियों और नारों के साथ स्वागत होगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसका कारण स्नैपचैट पर पिछले साल उनका एक वीडियो रहा, जिसमें उन्होंने अपनी टीम के एक अश्वेत साथी खिलाड़ी पर नस्लभेदी मजाकिया टिप्पणी की थी।


नोरी ने अपने वीडियो में एंजेलो अस्सुनकाओ की तरफ देखते हुए कहा था, "जब आपके फोन की स्क्रीन काम करती है तो वह सफेद होती है और जब नहीं करती तो वह काली होती है। सारे कचरा समेटने वाली थैली काली क्यों होती हैं?"

इस वाकए ने पूरे ब्राजील में कोहराम मचा दिया था। हालांकि नोरी ने इसके लिए मांफी मांग ली थी। देश की जिम्नास्टिक संघ ने उन्हें प्रतिबंधित भी कर दिया था।

इस घटना को बीते कई महीने हो चुके हैं और नोरी को लगा होगा कि लोगों ने उसे भुला दिया होगा, लेकिन तब वह हैरान रह गए रियो ओलम्पिक में पदक जीतने के बावजूद वहां दर्शकों ने उनके लिए न तो तालियां बजाई और न ही उनके समर्थन में नारेबाजी की। उल्लेखनीय है कि एक ट्विटर यूजर ने प्रशंसकों से उनके लिए जश्न मनाने से मना किया था।

एक शख्स ने लिखा, "आर्थर नोरी ने अच्छा किया लेकिन हमें उनकी नस्लीय टिप्पणी के बारे में नहीं भूलना चाहिए।"

एक और शख्स ने लिखा, "आर्थर नोरी को प्ररेणस्रोत मानना बंद करो क्योंकि वह नस्लवाद को बढ़ावा देने वाले इंसान हैं।"



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top