Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

#B'daySpecial: 66 साल के हुए रजनीकांत, जानिए कैसा रहा 'कंडक्‍टर' से 'सुपरस्‍टार' तक का सफर

 Girish Tiwari |  2016-12-12 07:48:31.0

kabali-rajinikanth-7593



तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
मुंबई:
दक्षिण भारतीय और बॉलीवुड के जानेमाने अभिनेता सुपरस्‍टार रजनीकांत जन्‍मदिन आज है। अपने अनोखे अंदाज और बेहतरीन अभिनय से फिल्म जगत में अलग मुकाम हासिल कर चुके सुपरस्टार रजनीकांत एक ऐसा नाम है, जो सभी की जुबां पर चढ़कर बोलता है। उन्होंने यहां तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किया है। रजनीकांत आज इतने बड़े सुपरस्टार होने के बावजूद जमीन से जुड़े हुए हैं। वह फिल्मों के बाहर असल जिंदगी में एक सामान्य व्यक्ति की तरह ही दिखते हैं और उनके प्रशंसक उन्हें प्यार ही नहीं करते बल्कि उन्हें पूजते हैं।


रजनीकांत का जन्‍म 12 दिसंबर को 1950 को बेंगलुरु में हूआ था। उनके बचपन का नाम शिवाजी राव गायकवाड़ था। उनके पिता रामोजी राव एक हवलदार थे। अचानक मां की मौत के बाद चार भाई-बहनों में सबसे छोटे रजनीकांत को घर की माली हालात ठीक करने के लिए कुली का काम करना पडा। वह एक ऐसे अभिनेता थे जिनमें शुरुआत से लेकर शोहरत की बुलंदियां छूने तक विनम्रता दिखती है।


रजनीकांत पहले बेंगलुरू परिवहन सेवा (बीटीएस) में बस कंडक्टर थे। लेकिन आज भारतीय सिनेमा में सबसे ज्यादा मेहनताना पाने वाला सुपरस्टार बन गयेे हैं। यह प्रेरणादायी है। रजनीकांत ने इस मुकाम को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की। उन्‍हें अभिनय में बेहद दिलचस्‍पी थी इसलिए उन्‍होंने वर्ष 1973 में मद्रास फिल्‍म संस्‍थान में दाखिला लिया और अभिनय में डिप्‍लोमा हासिल किया। नाटक मंचन के दौरान उनकी मुलाकात फिल्‍म निर्देशक के. बालाचंदर से हुई थी जिन्‍होने उनके समक्ष तमिल फिल्‍म में अभिनय करने का प्रस्‍ताव रखा था।



रजनीकांत ने अपने फिल्‍मी करियर की शुरूआत के. बालाचंदर की फिल्‍म 'अपूर्वा रागंगाल' (1975) से की थी। इस फिल्‍म में उन्‍होंने विलेन का किरदार निभाया था। यह भूमिका तो छोटी सी थी लेकिन इस फिल्‍म ने उनके आगे बढने का रास्‍ता साफ कर दिया। इस फिल्‍म को राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार मिला था।तेलुगू फिल्म 'छिलाकाम्मा चेप्पिनडी' (1975) में उन्हें मुख्य अभिनेता की भूमिका मिली। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। कुछ सालों में ही रजनीकांत तमिल सिनेमा के महान सितारे बन गए और तब से सिनेमा जगत में एक प्रतिमान बने हुए हैं। दर्शक उनकी फिल्‍मों को बेहद पसंद करते हैं।



रजनीकांत ने बॉलीवुड में कई फिल्‍में की जिनमें 'मेरी अदालत', 'जान जॉनी जनार्दन', 'भगवान दादा', 'दोस्ती दुश्मनी', 'इंसाफ कौन करेगा', 'असली नकली', 'हम', 'खून का कर्ज', 'क्रांतिकारी', 'अंधा कानून', 'चालबाज', 'इंसानियत का देवता' जैसी फिल्‍में शामिल है। वे उन अभिनेताओं में शामिल थे जो मानते है कि उनका काम बोलेगा। वर्ष 2000 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। रजनीकांत ने अन्य देशों की फिल्मों में भी काम किया है, जिनमें अमेरिका की फिल्में भी शामिल हैं।


रजनीकांत ने एथीरात कॉलेज की छात्रा लता से शादी की है। लता ने कॉलेज मैगजीन के लिए उनका इंटरव्यू लिया था। उन्होंने 26 फरवरी, 1981 को आंध्र प्रदेश के तिरुपति मंदिर में सात फेरे लिए। आज उनकी दो बेटियां हैं- ऐश्वर्या रजनीकांत और सौंदर्या रजनीकांत और उनकी पत्नी ‘द आश्रम’ नामक एक स्कूल चलाती हैं।



बेटी ऐश्वर्या की शादी धनुष के साथ 18 नवंबर, 2004 को हुई थी। उनकी छोटी बेटी तमिल फिल्म उद्योग में निर्देशक, निर्माता और ग्राफिक डिजाइनर है। 3 सितंबर 2010 को वह उद्योगपति आश्विन रामकुमार के साथ शादी के बंधन में बंध गई।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top