Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PM के नोट बंदी अभियान को अंजाम दिया 'स्पेशल 6' ने

 Vikas Tiwari |  2016-12-09 12:37:20.0



स्पेशल

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री के नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को बंद करने का साहसिक फैसला 8 नवम्बर को लिया था. प्रधानमंत्री ने इस साहसिक फैसले के लिए अपने छह अहम लोगों की टीम तैयार की और बहुत ही गोपनीय तरीके से इस फैसले को अंजाम देके देश के बड़े-बड़े विश्लेषकों को चौका दिया. देश के सभी लोगों को इस बात को जानने में दिलचस्पी है की इस योजना के लिए प्रधानमंत्री ने किन-किन लोगों को चुना और कैसे इस फैसले को अंजाम दिया.

hasmukh adhia

रॉयटर्स ने अपने रिपोर्ट में खुलासा किया की नोट बंदी को लागू करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मंत्रीमंडल के सामने कहा था कि 'नोटबंदी की पॉलिसी फेल हुई तो इसकी पूरी जिम्मेदारी मेरी होगी.' इसके लिए प्रधानमंत्री ने अपने चुने विश्वास पत्रों से भी पहले कसम खिलाई थी. और ये सब नरेंद्र मोदी के दिल्ली स्थित आवास के दो कमरों में हुआ है. इस अभियान का में 6 लोगों की टीम का नेतृत्व 58 साल के ब्यूरोक्रेट हसमुख अढिया ने किया. इस अभियान में गोपनीयता सबसे अहम थी वरना लोग अपने धन को सोना, प्रॉपर्टी और दूसरे संपत्ति में बदल सकते हैं.

हसमुख अढिया ने ही नरेंद्र मोदी को योग के बारें में समझाया था उस समय नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे. हसमुख अढिया गुजरात में नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में साल 2003 से 2006 तक प्रमुख सचिव भी रह चुके हैं.



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top