Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

उत्तराखंड में बादल फटने से 34 लोगों की मौत, 10 नदियां उफान पर, आज स्कूल रहेंगे बंद

 Abhishek Tripathi |  2016-07-02 02:57:51.0

uttarakhandतहलका न्यूज ब्यूरो
देहरादून. देशभर में मौसम का हाई अलर्ट जारी हो गया है। दिल्ली-एनसीआर में मौसम बदलना शुरू हो गया है और अगले 48 घंटों में मानसून दस्तक दे सकता है। हिमालय में माससून नया गुल खिला रहा है, जिससे उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में अगले 72 घंटे बेहद भारी गुजरने वाले हैं। वहीं, भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए शनिवार को उत्तराखंड में सभी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। अब तक 34 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है।


मानसून की एक नई लहर उत्तर भारत में अपना असर दिखा रही है1 इसकी वजह से दिल्ली, एनसीआर, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और उत्तराखंड के तमाम इलाकों में मौसम बदल चुका है। कई जगहों पर बारिश लोगों को परेशान किए हुए हैं1 लेकिन अब पहाड़ों के मौसम में बदलाव और तेजी से होगा और अगले 48 घंटों में हिमालय पर मूसलाधार बारिश होने वाली है।


uttarakhand1

हिमाचल-उत्तराखंड में अलर्ट जारी
मौसम विभाग की मानें तो मानसून और वेस्टर्न डिस्टर्बेंस आपस में टकरा रहे हैं, जिसकी वजह से पहाड़ के ऊंचे इलाकों में मौसम खराब होने की आशंका काफी बढ़ गई है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल के पहाड़ी इलाकों के लिए भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इन तीनों राज्यों में अगले 72 घंटों में 12 सेंटीमीटर या इससे ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की जा सकती है।


उत्तराखंड में अलकनंदा नदी का रौद्र रूप
लगता है देवभूमि उत्तराखंड से देव एक बार फिर नाराज हैं। जिस तरह से नदियां उफन रही हैं, जिस तरह से सैलाब सबकुछ बहाकर ले जा रहा है। उत्तराखंड वालों के लिए तीन साल पहले की तबाही फिर से जहन में तैरने लगी है। लोग डरने लगे हैं। उत्तराखंड की सबसे खतरनाक और सबसे बड़ी नदी अलकनंदा उफान पर है। कहा जाता है कि अलकनंदा जब अपना रौद्र रूप धारण करती है तो सिर्फ और सिर्फ तबाही लाती है। ऋषिकेष-बद्रीनाथ मार्ग पर तोता घाटी के पास चट्टान खिसकने से हाइवे बंद हो गया है। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे से मौसम ने जैसे हाहाकार मचा दिया है, बाढ़ और बारिश प्रभावित इलाकों में रेस्क्यू टीमें भेजी जा रही हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top