Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सिंचाई के लिये ज़रुरत भर पानी हर हाल में मिले : शिवपाल यादव

 Sabahat Vijeta |  2016-08-19 16:06:14.0

shivpal-meating




  • शिवपाल सिंह यादव ने की जगरानी बांध बहुउद्देशीय परियोजना एमओयू की समीक्षा

  • उत्तराखण्ड सरकार से समन्वय स्थापित कर अधिक से अधिक पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करें

  • नदियों के सौदर्यीकरण को तेजी से पूर्ण किया जाये

  • जिलाधिकारी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का लगातार निरीक्षण करें

  • बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लापरवाही करने वालों पर जिलाधिकारी करें कड़ी कार्रवाई


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण, सिंचाई, सहकारिता एवं राजस्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने अधिकारियों/अभियन्ताओं को निर्देश दिये कि उत्तर प्रदेश के तराई एवं मैदानी क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा हेतु अधिक से अधिक पानी उपलब्ध कराने के लिए उत्तराखण्ड सरकार से समन्वय स्थापित किया जाये। श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि गोला नदी, किच्छा नदी एवं नहरों को सिंचाई हेतु प्रदेश के हिस्से का जितना पानी मिलना चाहिए था उतना पानी क्यों नहीं मिल रहा है । श्री यादव ने कहा कि तत्काल उत्तराखण्ड के अधिकारियों से वार्ता करके सिंचाई हेतु अधिक से अधिक पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जाये।


लोक निर्माण, सहकारिता एवं राजस्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव आज सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ जमरानी बांध बहुउद्देशीय परियोजना के एमओयू राज्य में बाढ़ से प्रभावित जनपदों एवं गोमती रिवर फ्रंट तथा अन्य नदियों पर कराये जा रहे सौंदर्यीकरण की समीक्षा कर रहे थे। श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि नदियों/नहरों, माइनरों में जल संचय की छमता बढ़ाने के लिए सिल्ट की सफाई करा ली जाये। श्री यादव ने निर्देश दिये कि इलाहाबाद, वाराणसी, मथुरा-वृन्दावन एवं लखनऊ में नदियों पर चल रहे सौंदर्यीकरण के कार्यों का लगातार निरीक्षण किया जाये। उन्होंने कहा कि जहां कहीं भी निर्माण कार्य में बाधा आये उसे पुलिस/पीएसी से मदद लेकर दूर किया जाये। श्री यादव ने कहा कि पेंड़/पौधों को एक निश्चित दूरी पर लगााया जाये। श्री यादव गोमती किनारे बन रही डायफ्राम वाल तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिये।


सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने बाढ़ प्रभावित जनपदों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि अति संवेदनशील जगहों का चिन्हीकरण करके सड़कों एवं बांधों की सुरक्षा सुनिश्चित किया जाये। श्री यादव ने कहा कि लगातार निरीक्षण करते रहें तथा विभाग के सभी अभियन्ताओं को तत्काल काम पर लगा दिया जाये यदि स्टाफ की कमी है तो अन्य जगह से भी मांग लिया जाये। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों मे किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। श्री यादव ने कहा कि यदि कोई अधिकारी लापरवाही करे तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि जहां भी नये बांध बनाये जा रहे हैं अथवा मरम्मत कराये जा रहे हैं वहां पर वायवे्रट रोलर का प्रयोग किया जाये।


श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो भी विभागीय समस्याएं हैं उसका तत्काल समाधान किया जाये तथा जहां भी नये प्रोजेक्ट बनाये जा रहे हैं उसके स्टीमेट को बनाते समय विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि जो भी स्टीमेट बनाया जाये उसकी जांच एक कमेटी गठित करके की जाये।


बैठक में प्रमुख सचिव सिंचाई सुरेश चन्द्रा, प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई विभाग सी.केे. वर्मा तथा मुख्य अभियन्ता आदि उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top