Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

LIVE: PM मोदी ने किया स्वतंत्रता सेनानियों के पेंशन में बढ़ोतरी का ऐलान

 Girish Tiwari |  2016-08-15 02:33:43.0



modi 2

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
दिल्‍ली:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार ने शासन की गुणवत्ता में नाटकीय ढंग से सुधार किया है। देश की 70वीं वर्षगांट के मौके पर देशवासियों के संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने लोगों को अस्पतालों में इलाज के लिए ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा प्रदान करने का फैसला लिया था।

राष्ट्रीय राजधानी स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि इसी तरह का बदलाव देश के 40 प्रमुख अस्पतालों में लाया गया है।

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार, बस केवल एक मिनट में रेलवे की 15 हजार टिकटें ऑनलाइन कट रही हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, "जब मैं सुराज (सुशासन) के बारे में बात करता हूं, तो इसका मतलब देश के हर नागरिक के जीवन में बदलाव लाना है।"


https://www.youtube.com/watch?v=NgEx4ALsj2k

पीएम मोदी ने कहा कि भारत के पास लाखों समस्याएं हैं तो समाधान के लिए सवा सौ करोड़ मस्तिष्क भी हैं। पीएम ने कहा कि स्थिति मुझे बदलनी है, मैं लगा हुआ हूँ, उसे बदल कर रहूँगा।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि :- 

- जनता अब सिर्फ घोषणा से संतुष्ट नहीं होती, हमे अपने काम की रफ़्तार को तेज़ करना होगा
- हमें सामान्य लोगों की जीवनशैली में बदलाव लाना है
- 70 करोड़ नागरिकों को आधार से जोड़ा
- हमें अपने काम की रफ्तार को तेज करना होगा
- शासन संवेदनशील होना चाहिए, उसे उत्तरदायित्व निभाना चाहिए
- पारदर्शिता में सिफारिश का काम न
- अब सरकार आक्षेपों से नहीं अपेक्षाओं से घिरी हुई है
- सुराज्य का मतलब समर्पण और जिम्मेदारी
- एक समय था जब सरकारें आक्षेपों से घिरी रहती थी, अब इस सरकार से अपेक्षाएं हैं
- अपनी जिम्मेदारी निभाने से ही सुराज और श्रेष्ठ भारत का सपना पूरा होगा
- देश में समस्या है तो सामर्थ्य भी है
- पंचायत से पार्लियामेंट तक हर कोई अपनी ज़िम्मेदारी निभाए
- भारत एक चीर पुरातन राष्ट्र है
- आज देश को नए संकल्प तक ले जाने का पर्व
- निराशा देश का मिजाज़ बनता जा रहा था
- हमने 21 करोड़ लोगों को जनधन से जोड़कर असंभव को संभव किया
- LED बल्ब से बदलाव लाने की कोशिश
- हमारी सरकार में महंगाई दर 6 फीसदी, पहले 10 फीसदी थी
- देश के लिए बलिदान की गाथा, सिख गुरुओं की परंपरा देश कैसे भूल सकता है
- सरकार बायो टॉयलेट से लेकर बुलेट ट्रेन पर ध्यान दे रही है
- किसानों के लिए खाद की कमी दूर हुई
- स्पष्ट नीति और साफ नियत से जल्द ले सकते हैं फैसले
- पोस्ट ऑफिस को पेमेंट बैंक में बदलने की कोशिश कर रही सरकार
- मैंने लोकलुभावन फैसलों से दूर रहने का प्रयास किया है
-  सभी ने देश की प्रगति को सराहा है
- किसान को अब मजदूर नहीं होना पड़ेगा
-  सशक्त समाज से ही सशक्त देश बनता है
- हमारे सभी महापुरुषों से सामाजिक एकता की बात की
- युवाओं को रोजगार मिले, ये हमारे लिए समय की मांग है
- सामाजिक न्याय पर बल देने की आवश्यकता, समाज का सशक्त होना ज़रूरी
- हमने टालने वालों में से नहीं, टकराने वाले में से हैं
- काम का दायरा जितना बढ़ेगा, रोजगार की संभावना उतनी बढ़ेंगी
- जाति के कारण किसी का भी अनादर ना हो, टूटा समाज कभी टिक नहीं सकता
- छूत-अछूत में बंटा समाज विकास नहीं कर सकता
- GST हमारी अर्थव्यवस्था को मजबूती देगी
- हमें अपने देश को वैश्विक मानकों पर खरा उतारना होगा
- बड़े भ्रष्टाचार की चर्चा होती है, निचले स्तर पर हमने बिचोलिये की भूमिका को ख़त्म किया
- हमने दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को पीछे किया
-  साल में भारतीय अर्थव्यवस्था विश्व में तीसरे नंबर पर होगी
- सभी ने देश की प्रगति को सराहा है
- मैंने लोकलुभावन फैसलों से दूर रहने का प्रयास किया
- अगर पहले की सरकारों ने कोई काम किया है तो उस काम को आगे बढ़ाना चाहिए
- 3 साल में 5 करोड़ गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन दिए
-  स्पष्ट नीति और साफ नियत से जल्द ले सकते हैं फैसले
- रेल प्रोजेक्ट की मंजूरी 3-4 महीने में
- सरकार बायो टॉयलेट से लेकर बुलेट ट्रेन पर ध्यान दे रही है
- हमने नेताजी सुभाष से जुड़ी फाइलों को सार्वजनिक किया, बांग्लादेश से सीमा विवाद हल किया
- भारत में विविध प्रकार के रंग और सपने
-  विविधता की एकता हमारी सबसे बड़ी ताकत
- आतंकवाद और माओवाद के आगे ये देश कभी नहीं झुकेगा
- हिंसा और अत्याचार का हमारे देश में कोई स्थान नहीं है
- आतंकवाद का महिमामंडन हो रहा है

इससे पहले राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किला पहुंचे और वहां तिरंगा फहराया। आजादी के पर्व में कोई खलल न पड़े, इसे देखते हुए देश के प्रमुख शहरों में सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है।

खासकर राजधानी दिल्‍ली की सुरक्षा में करीब 45,000 जवानों को तैनात किया गया है। लाल किला और आसपास के इलाकों में सुरक्षा बढ़ाने के अलावा पूरी राजधानी में खासतौर पर बाजारों, मॉल्स और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षा बढ़ाई गई है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top