Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चीन और पाक को करारा जवाब, भारत-ईरान के बीच हुआ ऐतिहासिक चाबहार समझौता

 Anurag Tiwari |  2016-05-23 07:53:16.0

modi in iran (2)

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

तेहरान. अपने दो दिवसीय दौरे पर ईरान पहुंचे पीएम नरेन्द्र मोदी ने ईरान के राष्ट्रपति के साथ चाबहार पोर्ट के विकास, एल्युमिनियम स्मेल्टर संयंत्र और रेल लाइन स्थापित करने से संबंधित समझौतों पर हस्ताक्षर किए । दोनों नेताओं ने रणनीतिक और कारोबारी महत्व वाले द्विपक्षीय मुद्दों पर 30 मिनट तक चर्चा की।

भारत करेगा निवेश

भारत इरान को पोर्ट के निर्माण में सहयोग के साथ साथ इस बंदरगाह को रेल नेटवर्क से भी जोड़ेगा। इसको बनाने में भारत करीब 200 मिलियन डॉलर का निवेश करेगा। दूसरे फेज में भारत करीब 500 किमी लंबी रेल लाइन बिछाकर इस बंदरगाह को जहेदान से जोड़ेगा। आने वाले समय में भारत के कच्चे तेल और यूरिया आयात की ट्रांसपोर्टेशन में 30 फीसदी की कमी आएगी।


पाकिस्तान जाए बिना अफगानिस्तान जा सकेगा भारत

भारत और इरान के बीच अप्रैल में हुए करार के मुताबिक भारत को इस बंदरगाह के जरिए अफगानिस्तान तक पहुंचने की इजाजत मिलेगी। इस रूट से भारतीय सामान को बिना पाकिस्तानी सीमा पर जाए अफगानिस्तान पहुंचाने की सुविधा मिल जाएगी।

क्या कहा गडकरी ने

- सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, चाबहार के रणनीतिक बंदरगाह के निर्माण और परिचालन संबंधी वाणिज्यिक अनुबंध पर समझौते से भारत को ईरान में अपने पैर जमाने और पाकिस्तान को दरकिनार कर अफगानिस्तान, रूस और यूरोप तक सीधी पहुंच बनाने में मदद मिलेगी।

- ईरान के पास सस्ती प्राकृतिक गैस और बिजली है और भारतीय कंपनियां 50 लाख टन का एल्यूमीनियम स्मेल्टर संयंत्र और यूरिया विनिर्माण इकाइयां स्थापित करना चाहती हैं।

- भारत यूरिया सब्सिडी पर 45,000 करोड़ रुपए सालाना खर्च करता हैं और यदि इसका विनिर्माण चाबहार मुक्त व्यापार क्षेत्र से होगा और कांडला बंदरगाह ले जाकर वहां से भीतरी इलाकों में इसे पहुचाएं तो उतनी ही राशि की बचत होगी।

- नाल्को एल्यूमीनियम स्मेल्टर स्थापित करेगी, जबकि निजी एवं सहकारी उर्वरक कंपनियों यूरिया संयंत्र बनाने की इच्छुक हैं बशर्ते उन्हें दो डॉलर प्रति एमएमबीटीयू से कम की दर पर गैस मिले।

- रेलवे का पीएसयू इरकॉन चाबहार में एक रेल लाइन का निर्माण करेगा ताकि अफगानिस्तान तक सीधे सामान पहुंचाया जा सके।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top