Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

परमाणु क्षमता से लैस 4000 किमी रेंज वाली अग्नि-IV बैलेस्टिक मिसाइल का सफल टेस्ट

 Girish |  2017-01-02 08:06:32.0



agni-4-test-launch
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


बालासोर (ओडिशा). डीआरडीओ (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन) ने सोमवार को बालासोर से अग्नि-4 मिसाइल का टेस्ट किया। इसकी रेंज 4 हजार किमी है। पहले रेंज 3500 तक थी। अग्नि-4 भी एटमी हथियार ले जाने में कैपेबल है। बता दें कि 27 दिसंबर को अब्दुल कलाम आईलैंड से 5 हजार किमी रेंज वाली अग्नि-5 का टेस्ट कामयाब रहा था। बता दें कि भारत इंटरकॉन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) बनाने वाला पांचवा देश है। अमेरिका, रूस, फ्रांस और चीन हमसे पहले इस तरह की मिसाइल डेवलप कर चुके हैं।





- अग्नि-4 में सटीक निशाना साधने के लिए रिंग लेजर गायरो बेस्ड इनर्शियल नेविगेशन सिस्टम (RINS), माइक्रो नेविगेशन सिस्टम (MNS) लगे हुए हैं।
- अग्नि-4 1000 टन तक वॉरहेड ले जाने में कैपेबल है।
- सॉलिड फ्यूल से चलने वाले अग्नि-4 में दो इंजन लगे हैं। इसकी लंबाई 20 मीटर और लॉन्च वेट 17 टन है।
- इसे रोड मोबाइल लॉन्चर से दागा जा सकता है।






क्यों खास है अग्नि-5?

- अग्नि-5 सतह से सतह पर मार करने वाली मीडियम से इंटरकॉन्टिनेंटल रेंज की मिसाइल है। 27 दिसंबर, 2016 को यह इस मिसाइल का चौथा टेस्ट था। दूसरे और तीसरे टेस्ट से यह बात साबित हुई थी कि यह मिसाइल 20 मिनट में टारगेट को हिट कर सकती है।
- 19 अप्रैल 2012 को अग्नि का पहला, 15 सितंबर 2013 को दूसरा और 31 जनवरी 2015 को तीसरा टेस्ट हुआ था।
- साइंटिस्ट्स की मानें तो अग्नि-5 का नेविगेशन और गाइडेंस सिस्टम उसे खास बनाता है।
- मिसाइल में रिंग लेजर गायरो बेस्ड इनरशियल नेविगेशन सिस्टम (RINS) और माइक्रो नेविगेशन सिस्टम (MINS) टेक्नीक का इस्तेमाल किया गया है। इससे सटीक निशाना लगाने में मदद मिलती है।
- अग्नि में 85% स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।
- मल्टीपल इंडिपेंडेंटली टारगेटेबल री-एंट्री व्हीकल (MIRV) टेक्नीक के इस्तेमाल से एकसाथ कई टारगेट पर वार कर सकेगी।





अग्नि-5 की जद में आधी दुनिया

- अमेरिका को छोड़कर पूरा एशिया, अफ्रीका और यूरोप भारत के दायरे में होगा।
- भारत की इस सबसे ताकतवर मिसाइल की रेंज में पूरा पाकिस्तान, अफगानिस्तान, इराक, ईरान और करीब आधा यूरोप आता है।
- अग्नि-5 चीन, रूस, मलेशिया, इंडोनशिया और फिलीपींस तक टारगेट पर निशाना लगा सकती है।





भारत-पाक की एटमी मिसाइलों में कितना फर्क

- दोनों देशों की मिसाइल टेक्नोलॉजी में बड़ा फर्क यह है कि भारत 5000 किलोमीटर तक वार करने वाली परमाणु मिसाइल अग्नि-5 डेवलप कर चुका है और 10 हजार किलोमीटर तक जाने वाली मिसाइल टेक्नोलॉजी डेवलप कर रहा है।
- पाकिस्तान अभी शाहीन-3 तक ही पहुंच पाया है। इसकी रेंज 2750 किमी है।
- पाक तैमूर इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल पर काम कर रहा है जिसकी कैपेबिलिटी अग्नि-5 जितनी होगी। यानी पाकिस्तान अभी हमसे एक कदम पीछे है।
- वहीं, शाहीन 3 को लेकर पाक आर्मी का दावा है कि ये पूरे भारत में कहीं भी निशाना लगा सकती है। पूर्व में म्यांमार, पश्चिम में इजरायल और उत्तर में कजाखिस्तान तक एटमी हथियार से हमला कर सकती है।



ऐसे बढ़ती रही अग्नि की रेंज

- अग्नि 1:
700 किमी।
- अग्नि 2:2000 किमी।
- अग्नि 3: 2500-3500 किमी।
- अग्नि-4: 4000 किमी।
- अग्नि 5: 5000 किमी।

Tags:    

Girish ( 4001 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top