Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

IPL-9 में नहीं खेलेंगी CSK-RR, दो नई टीमों को मिली जगह

  |  2015-10-18 12:37:22.0

a1
तहलका न्यूज़ ब्यूरो

मुंबई, 18 अक्टूबर. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर दो साल का बैन बरकरार रखा गया है। रविवार को मुंबई में करीब दो घंटे चली बीसीसीआई वर्किंग कमेटी की मीटिंग में ये फैसला लिया गया। इसकी जगह दो नईं टीमें आईपीएल-9 में खेलेंगी। इसके अलावा आईपीएल की मेन टाइटल स्पॉन्सर अब Vivo मोबाइल्स है। वीवो आईपीएल के अगले दो सीजन के लिए मेन स्पॉन्सर रहेगी। बीसीसीआई वर्किंग कमेटी की अगली मीटिंग 9 नवंबर को होगी।


चेन्नई और राजस्थान की जगह दो नई टीमें
मीटिंग में जस्टिस लोढ़ा कमेटी की रिपोर्ट को सही मानते हुए चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर बैन बरकरार रखा गया है। इनकी जगह दो नई टीमें आईपीएल-9 और आईपीएल-10 (2016 और 2017) में खेलेंगी। इसके लिए बीसीसीआई टेंडर जारी करेगी। 2018 में आईपीएल-11 में 10 टीमें खेलेंगी।


खिलाड़ियों का क्या होगा, नहीं है साफ
हालांकि, अभी ये साफ नहीं है कि चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बैन रहने की स्थिति में इन टीमों के लिए खेल रहे खिलाड़ियों का भविष्य क्या होगा। क्या ये खिलाड़ी भी दो साल तक आईपीएल से दूर रहेंगे या फिर धोनी-रैना-रहाणे जैसे स्टार क्रिकेटर्स की फिर से नीलामी होगी।


ये था लोढ़ा कमेटी का फैसला
आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट की ओर से बनाई गई लोढ़ा कमेटी ने जुलाई 2015 में फैसला सुनाया था। बीसीसीआई के पूर्व चेयरमैन एन. श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा पर लाइफटाइम बैन लगा दिया गया था। यानी ये दोनों बीसीसीआई से जुड़ी किसी भी क्रिकेट एक्टिविटी में जिंदगीभर हिस्सा नहीं ले पाएंगे। मयप्पन और कुंद्रा की सट्टेबाजी की सजा उनकी टीमों को भी मिली है। धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स और एक आईपीएल जीत चुकी राजस्थान रॉयल्स को भी आईपीएल से सस्पेंड कर दिया गया था।


ये है पूरा मामला
गौरतलब है कि आईपीएल सीजन 6 के दौरान दिल्ली पुलिस ने मुंबई से पूर्व टेस्ट क्रिकेटर एस. श्रीसंथ सहित राजस्थान रॉयल्स के 3 खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक 2013 में मुंबई में राजस्थान रॉयल्स बनाम मुंबई इंडियंस, 5 मई को जयपुर में हुए राजस्थान रॉयल्स बनाम पुणे वॉरियर्स, और नौ मई को मोहाली में हुए राजस्थान रॉयल्स बनाम किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैचों में स्पॉट फिक्सिंग हुई थी।


सट्टेबाज़ी से जुड़े कई नामी चेहरे
उस वक्त इस मामले में तीन खिलाड़ियों और 11 सटोरियों को गिरफ़्तार किया गया था। धीरे-धीरे इस मामले में देश में क्रिकेट को चलाने वाले लोग भी जुड़ने लगे, जब पूर्व बीसीसीआई प्रेसिडेंट एन. श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन की गिरफ्तारी हुई। सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 22 जनवरी को मयप्पन और कुंद्रा के खिलाफ सट्टेबाजी के आरोप साबित होने की बात कही थी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top