Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

IPS अफसर ने कहा, सुनियोजित थी इशरत की हत्या

 Tahlka News |  2016-03-03 07:16:46.0

ishrat_650x400_41455169304नई दिल्ली। फिर से सुर्ख़ियों में आये इशरत जहाँ केस में अब अधिकारीयों के विरोधाभासी बयान आने लगे हैं. सीबीआई जांच में सहयोग करने वाले आईपीएस अफसर व एसआईटी टीम के प्रमुख सतीश वर्मा ने इशरत जहां एनकाउंटर मामले पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने दावा किया है कि इशरत जहां एनकाउंटर में नहीं मारी गई, बल्कि पूरी प्लानिंग के साथ उसकी हत्या की गई थी।

गृह मंत्रालय में अंडर सेक्रेटरी रहे आरवीएस मणि के दावों को खारिज करते हुए वर्मा ने कहा कि मणि को इस केस के संबंध में कोई डायरेक्ट जानकारी नहीं है। आईपीएस अफसर ने इशरत के संबंध में कहा कि वह मारे गए तीन अन्य लोगों में से एक जावेद शेख के संपर्क में कुछ दिन पहले आई थी। वह अपने घर से 10 दिनों के लिए दूर थी और इसी दौरान उन लोगों की मुलाकात हुई थी।


बीते सप्ताह पूर्व गृह सचिव जीके पिल्लई ने कहा था कि लश्कर के इस समूह को 2004 में आईबी ने ही गुजरात आने का लालच दिया था।

सतीश वर्मा ने कहा कि हमारी जांच में पता चला कि एनकाउंटर से कुछ दिन पहले आईबी अधिकारियों ने इशरत जहां और उसके तीन साथियों को उठा लिया था। गौर करने वाली बात ये है कि उस वक्त भी आईबी के पास इस बात के सबूत या संकेत नहीं थे कि एक महिला आतंकियों के साथ मिली हुई है। इन लोगों को गैर कानूनी रूप से हिरासत में रखा गया और फिर मार डाला गया।

महाराष्ट्र के मुंब्रा की रहने वाली इशरत जहां को उसके तीन अन्य साथियों के साथ अहमदाबाद के बाहरी इलाके में 15 जून 2004 को मार डाला गया था। आरोप लगाया गया था कि ये सभी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top