Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी के यह दो गाँव बनेंगे Smart Village

 Sabahat Vijeta |  2016-06-22 15:18:23.0

smartvillageशबाहत हुसैन विजेता


लखनऊ. यूपी सरकार ने कुछ स्मार्ट गाँव बनाकर देश के सामने उदाहरण के रूप में पेश करने का फैसला किया है. अब तक दो गाँव चयनित किये गए हैं और दोनों ही लखनऊ के हैं. पहला गाँव काकोरी का दशहरी गाँव है और दूसरा माल का लतीफपुर. सरकार इन दोनों गाँव में वह सभी सुविधाएं मुहैया करायेगी जिसे हासिल करने के लिए ग्रामीण शहरों की तरफ से पलायन करते हैं.


सरकार ने दशहरी और लतीफपुर गाँव के काया-कल्प के निर्देश दे दिए हैं. सरकार ने अपनी इस योजना को आई-स्पर्श नाम दिया है. आई-स्पर्श के तहत गाँव में तालाबों का निर्माण कराया जाएगा. वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाया जाएगा ताकि बरसात गुज़र जाने के बाद भी किसानों को पानी के लिए न तरसना पड़े.


akh-1


स्मार्ट गाँव में बनने वाले तालाबों के किनारों पर गोमती की तर्ज़ पर डायफ्राम वाल बनाकर हरित पट्टी विकसित की जायेगी. इस हरित पट्टी पर पर्यटकों के लिए बेंच का इंतजाम किया जाएगा. ताकि खेती के उपयोग के लिए जमा किया जाने वाला पानी गाँव के सौन्दर्य में भी चार चाँद लगाने वाला साबित हो. इन तालाबों तक पानी पहुंचाने के लिए भूमिगत नालियों का निर्माण कराया जाएगा.


स्मार्ट गाँव को पक्की सड़कों से जोड़ा जाएगा. इस गाँव से जुड़ने वाले दूसरे गाँव भी पक्की सड़कों से जुड़ेंगे. गाँव के सभी भीतरी रास्तों पर खडंजा बिछाया जाएगा. गाँव में लगे पुराने हैण्डपम्पों की रिपेयर होगी और जहाँ ज़रुरत होगी नए हैंडपंप लगेंगे. इसके अलावा सार्वजनिक और सरकारी स्थलों पर सोलर से चलने वाले आरओ लगाए जायेंगे.


स्मार्ट गाँव के स्कूलों की मरम्मत और रंगाई-पुताई का काम होगा. स्कूल के रास्तों को बेहतर बनाया जाएगा. स्कूलों में शौचालय का निर्माण कराया जाएगा. स्कूलों में पानी के लिए आरओ और अच्छे माहौल के लिए वृक्षारोपण कराया जाएगा. स्कूलों में शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए फर्नीचर की व्यवस्था होगी.


smart-school


स्मार्ट गाँव के स्कूल भी स्मार्ट होंगे और यहाँ डिज़िटल लर्निंग की व्यवस्था की जायेगी. स्कूलों में बच्चों के लिए झूलों और खेलने का इंतजाम होगा.


स्मार्ट गाँव की बिजली व्यवस्था शहरों जैसी होगी. यहाँ बिजली के नए खम्भे होंगे. कहीं भी झूलते तार नज़र नहीं आयेंगे. नए और उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर लगेंगे. इन ट्रांसफार्मर के खराब होने की दशा में स्टैंड बाई की व्यवस्था रहेगी. स्मार्ट गाँव में सूचना प्रौद्योगिकी का भरपूर इस्तेमाल होगा. गाँव में इंटरनेट पहुंचेगा. सारे कार्य पेपरलेस होंगे. गाँव में वाई-फाई सिस्टम लागू होगा. कम्प्यूटर, प्रोजेक्टर, प्रिंटर सब गाँव की व्यवस्था का हिस्सा बन जायेंगे.


स्मार्ट गाँव में कौशल विकास को वरीयता मिलेगी. फ्लोरीकल्चर, हार्टीकल्चर, शेरीकल्चर और स्टार्टअप इन एग्रीकल्चर एलाइड सिस्टम लागू हो जाएगा.


स्मार्ट गाँव की राह आसान करने के लिए सरकार हर संभव उपाय करेगी. गाँव में फैसला समिति बनेगी. निगरानी समिति बनेगी. छात्राओं को सायकिलें मिलेंगी. गाँव में ई-रिक्शा पहुंचेगा. बैटरी चार्जिंग की व्यवस्था होगी. दिव्यांगों को ज़रूरी उपकरण मिलेंगे.


कृषि को आसान बनाने के लिए गाँव में जुताई और बुवाई की मशीनें पहुंचेंगी. आम तोड़ने वाली मशीनें गाँव पहुंचेंगी. गाँव में बायोगैस संयंत्र लगेगा. फूलों के निस्तारण का इंतजाम होगा. इन गाँव में रहने वालों को भोजन और रोज़गार की सुरक्षा मिलेगी. गाँव में ओल्ड एज होम और मद्य निषेध सेंटर भी बनाया जाएगा.


स्मार्ट गाँव में खुले में शौच से मुक्ति मिलेगी. कूड़ा प्रबंधन किया जाएगा. सरकार स्मार्ट गाँव के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखेगी. प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और एएनएम सेंटर स्थापित किये जायेंगे. महिलाओं और बालिकाओं को सैनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराये जायेंगे. इन गाँव में धुंआ रहित चूल्हे और सोलर लालटेन की व्यवस्था कराई जायेगी.


स्मार्ट गाँव में लोहिया आवास की तर्ज़ पर जनेश्वर मिश्र आवासों का निर्माण कराया जाएगा. प्रधानमंत्री आवास योजना में स्मार्ट गाँव के लोगों को आवास आवंटन में प्राथमिकता मिलेगी. स्मार्ट गाँव में काल सेंटर भी बनाए जायेंगे. गाँव में पंचायत भवन होगा. कामन सर्विस सेंटर होगा.


स्मार्ट गाँव के नागरिकों की आय बढ़ाने के लिए सरकार उनके लिए रोज़गार की व्यवस्था भी करेगी. गाँव में सैनेटरी नैपकिन बनाने की इकाई लगेगी. हल्दी उत्पादन, लेमन ग्रास और पामा रोज़ा जैसी व्यवस्थाएं की जायेंगी.


स्मार्ट गाँव का दर्जा पाने वाले माल के लतीफपुर गाँव की प्रधान श्वेता सिंह ने बताया कि पिछले छह महीने से वह अपने गाँव को डिजिटल बनाने में लगी थीं. अब सरकार इसे स्मार्ट बनाने जा रही है तो ज़ाहिर है कि ज़िम्मेदारी और बढ़ गई है. कोशिश रहेगी कि अब लतीफपुर को पूरे देश के सामने आदर्श के रूप में पेश किया जाये.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top