Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कन्हैया ने कार्टून ट्वीट कर पीएम मोदी का उड़ाया मजाक, आंदोलन की चेतावनी दी

 Tahlka News |  2016-04-26 12:24:05.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली, 26 अप्रैल. जवाहर लाल यूनीवर्सिटी (जेएनयू) में उच्च स्तरीय जांच समिति के फैसले के खिलाफ छात्रसंघ ने देशव्यापी अभियान की चेतावनी दी है। अपनी प्रतिक्रिया में जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा है कि हास्यास्पद जांच के आधार पर दंडात्मक कार्रवाई अस्वीकार्य है और छात्रसंघ इसे खारिज करता है। बता दें कि कन्हैया कुमार पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। वहीं, कन्हैया ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'जेएनयूएसयू हास्यास्पद समिति के आधार पर प्रशासन की ओर से दंड दिए जाने को खारिज करता है।'


इस मामले में आरोपी बनाए गए छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य ने कहा है कि उन्हें विश्वविद्यालय से निष्कासन का फैसला नामंजूर है। दोनों ने जांच समिति के फैसले पर सवाल उठाए। अनिर्बान और उमर ने आरोप लगाया है कि प्रशासन की कार्रवाई आरएसएस की शह पर परेशान करने जैसी है। हाई लेवल कमिटी ने नौ फरवरी के विवादास्पद कार्यक्रम के मामले में आरोपी छात्रों को सजा सुनाते हुए जुर्माना भी लगाया है। इस मामले में छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ़्तार भी किया गया था। बाद में ज़मानत पर उन्हें रिहा किया गया था।


a2


कन्हैया ने पोस्ट किया कार्टून
शोध छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्या को अलग-अलग अवधि के लिए जेएनयू से निष्कासित कर दिया गया है। उमर को एक सेमेस्टर के लिए यूनीवर्सिटी से निष्कासित किया करते हुए 20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इस बीच कन्हैया ने अपने ट्विटर पेज पर एक कार्टून पोस्ट करते हुए केंद्र सरकार, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और जेएनयू प्रशासन पर निशाना साधा है। जबकि अनिर्बान भट्टाचार्या पर 15 जुलाई तक के लिए निष्कासन और 20 हजार का जुर्माना लगा है। वहीं जेएनयू छात्रसंघ की उपाध्यक्ष शहला राशिद ने प्रशासन के फ़ैसले को बदले की भावना से प्रेरित बताया है।


9 फरवरी का मामला
25 जुलाई के बाद से अनिर्बान भट्टाचार्य पर अगले पांच साल तक जेएनयू में कोई कोर्स करने पर रोक लगा दी गई है। सजा की अवधि के दौरान अगर उनका व्यवहार अच्छा रहा, तो उन्हें दोबारा दाख़िला दिया जा सकता है। दूसरे छात्रों में मुजीब गट्टू को दो सेमेस्टर के लिए निलंबित किया गया है। इसके अलावा ऐश्वर्य, रामा नागा, अनंत और गार्गी पर भी 20-20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। जेएनयू परिसर में इसी साल नौ फ़रवरी को आयोजित एक कार्यक्रम में इन छात्रों पर कथित रूप से देशविरोधी नारे लगाने का आरोप है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top