अमित जानी ने Tahlkanews.com से विशेष बातचीत में कहा 'हम लोग राज्‍य में जम्‍मू-कश्मीर बैंक शाखाओं के आगे कैंप लगाएंगे। इस कैंप के जरिए लोगों से अपील की जाएगी कि वे इस बैंक में अपना अकाउंट बंद कर दें ताकि कश्मीरियों की फंडिंग को रोका जा सके।'

अमित जानी ने बताया कि कश्मीर में सेना के जवानों पर जो पत्‍थर फेंके जाते हैं उसके लिए फंडिंग की जाती है। ऐसे में यदि इनकी फंडिंग रेाक दी जाएगी तो समस्‍या अपने आप एक हद तक सुलझ जाएगी। इसके लिए नवनिर्माण सेना आंदोलन करीब तीन महीने तक आंदोलन चलाएगी।
", | "url" : "http://tahlkanews.in/khaas-khabar/controversy-over-kashmiris-conflicts-between-rajnath-singh-and-amit-jani--180903", | "publisher" : { | "@type" : "Organization", | "name" : "Tahlka News", | "logo" : { | "@context" : "http://schema.org", | "@type" : "ImageObject", | "contentUrl" : "http://tahlkanews.in/images/logo.png", | "height": "150", | "width" : "50", | "url" : "http://tahlkanews.in/images/logo.png" | } | }, | "mainEntityOfPage": { | "@type": "WebPage", | "@id": "http://tahlkanews.in/khaas-khabar/controversy-over-kashmiris-conflicts-between-rajnath-singh-and-amit-jani--180903" | } | }
Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अमित जानी ने कहा 'कश्मीरियों यूपी छोड़ो', गृहमंत्री ने बताया कश्मीरी भारतीय हैं

 Abhishek Tripathi |  2017-04-21 06:50:51.0

अमित जानी ने कहा कश्मीरियों यूपी छोड़ो, गृहमंत्री ने बताया कश्मीरी भारतीय हैं

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
मेरठ. कश्मीर में फैली अशांति और हिंसा के बीच केंद्रीय गृहमंत्री ने बयान दिया है कि कश्मीर के लोग भी भारतीय हैं। इनकी सुरक्षा का दायित्‍व संबंधित राज्‍य और केंद्र सरकार का है। लेकिन नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने राजनाथ सिंह के उलट बयान दिया है। नवनिर्माण सेना ने मेरठ में अमित जानी के नाम से कश्मीरियों को लेकर एक विवादित पोस्‍टर भी लगाया है। इस पोस्‍टर में साफ संदेश दिया गया है 'कश्मीरियों उत्‍तर प्रदेश भारत छोड़ो।'



अमित जानी ने Tahlkanews.com से विशेष बातचीत में कहा 'हम लोग राज्‍य में जम्‍मू-कश्मीर बैंक शाखाओं के आगे कैंप लगाएंगे। इस कैंप के जरिए लोगों से अपील की जाएगी कि वे इस बैंक में अपना अकाउंट बंद कर दें ताकि कश्मीरियों की फंडिंग को रोका जा सके।'

अमित जानी ने बताया कि कश्मीर में सेना के जवानों पर जो पत्‍थर फेंके जाते हैं उसके लिए फंडिंग की जाती है। ऐसे में यदि इनकी फंडिंग रेाक दी जाएगी तो समस्‍या अपने आप एक हद तक सुलझ जाएगी। इसके लिए नवनिर्माण सेना आंदोलन करीब तीन महीने तक आंदोलन चलाएगी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top