Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए नहीं भरना होगा फार्म, जानिए क्या है नए नियम

 Sonalika Azad |  2017-02-08 07:46:12.0

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए नहीं भरना होगा फार्म, जानिए क्या है नए नियम

तहलका न्यूज़ ब्यूरो.


नई दिल्ली. ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. लेकिन अब जल्द ही बार-बार फॉर्म भरने की प्रक्रिया से राहत मिलने वाली है. केंद्र सरकार ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) बनाने की जटिला को समाप्त करने के लिए मोटर वाहन अधिनियम में बदलाव करने जा रही है.

इससे देशभर में फर्जी डीएल बनाने के सिलसिले को रोकने के लिये. केंद्र सरकार ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) बनवाने के नियमो में मोटर वाहन अधिनियम के तहत बदलाव करने जा रही है. सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में राज्यों के क्षेत्रीय परिवहन कार्यायलों (आरटीओ) में लर्निग डीएल बनाया जाता है.


दरअसल अभी तक, एक निश्चित अवधि के बाद स्थायी डीएल पाने के लिए आवेदनकर्ता को नया फार्म भरना पड़ता है. इसी प्रकार डीएल के नवीनीकरण, मोटरसाइकिल-स्कूटर से कार का लाइसेंस बनाना, पता बदलने, डीएल में नाम बदलने, डुप्लीकेट डीएल बनाने के लिए हर बार फार्म भरना पड़ता है. उन्होंने बताया कि मोटर वाहन अधिनियम 1989 में बदलाव किया जा रहा है.




नए कानून

नए कानून में अधिनियम के रूल 10,14 (1), 17 (1) व 18 को समाप्त कर दिया जाएगा. इसके स्थान पर नया फार्म -2 लागू होगा. उपरोक्त तमाम कार्यो के लिए आवेदनकर्ता को सिर्फ उक्त फार्म 2 भरना होगा. इस नए फार्म में नए कॉलम हैं. इसमें आवेदनकर्ता को अपना आधार कार्ड नंबर, ईमेल, मोबाइल नंबर लिखना होगा.




पहली बार डीएल बनवाने वाले व्यक्ति के लिए सड़क हादसे में मृत्यु होने पर अंगदान करने की घोषणा करने का विकल्प होगा. इस कॉलम में हां अथवा नहीं का विकल्प होगा. वर्तमान में यह व्यवस्था नहीं है. उन्होंने बताया कि मंत्रलय ने संबंधित पक्षों से सुझाव-शिकायतों के लिए मसौदा संबंधी अधिसूचना जारी कर दी है.


सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कई बार कहा है कि, क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों में गड़बड़ी के चलते देश में 30 फीसदी लोग फर्जी डीएल का इस्तेमाल कर रहे हैं. केंद्र सरकार देशभर के आरटीओ को कंप्यूटरीकृत के जरिए ऑनलाइन जोड़ रही है. डीएल सहित वाहनों से जुड़े तमाम दस्तावेज मोबाइल एप पर उपलब्ध होंगे.



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top