Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ये बनारसी Fitness Model ऊंचा कर रही है महिलाओं का नाम

 Anurag Tiwari |  2017-01-23 08:05:49.0

ये बनारसी Fitness Model ऊंचा कर रही है महिलाओं का नाम

अनुराग तिवारी

वाराणसी. आमतौर पर बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस करियर का क्षेत्र पुरुषों के लिए माना जाता है. लेकिन एक बनारसी लड़की ने यह मान्यता तोड़ दी है और फिटनेस मॉडलिंग के क्षेत्र में अपना और शहर का नाम ऊंचा कर रही है. बनारस में पढ़ी लिखी अंकिता ने देश के पहले ऐसे कैलेंडर में जगह पाई है, जिसमें केवल फिटनेस मॉडल्स पर फोकस किया गया है.



अंकिता ने अपनी 12वीं तक की पढ़ाई वाराणसी के राजघाट स्थित राजघाट बेसेंट स्कूल से पूरी की है. इसके बाद वे लखनऊ आ गईं. यहाँ से उनका सेलेक्शन बंगलुरु स्थित एक इंजीनियरिंग कॉलेज में हुआ. इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद वे अब देश की जानी-मानी सॉफ्टवेयर कम्पनी में काम कर रही हैं.



अंकि‍ता दिखने में जितनी सुंदर हैं उतनी ही बड़ी फिटनेस फ्रीक. उनके बाइसेप्स देखकर अच्छे-अच्छे मेल बॉडी-बिल्डर्स शरम से पानी-पानी हो जाते हैं. अंकिता की खासियत यह है कि वे न केवल सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग की कोडिंग को देखकर उसे ट्यून करती हैं बल्कि अपनी बॉडी को इस तरह ट्यून कर लिया है कि जिसकी भी नजरें उन पर पड़ें तो हटती नहीं. अंकिता सिंह का मतलब है ब्यूटी, ब्रेंस और फिटनेस का जबरदस्त पैकेज, जो जिंदगी के कई मोर्चों पर संघर्षों और विरोध की बाद भी अपनी मंजिल की ओर बढ़ी जा रही हैं.




बीमारी ने बनाया फिटनेस फ्रीक

अंकिता का बचपन से ही स्पोर्ट्स में झुकाव था. जब वे छोटी थीं तो अक्सर छुट्टियों में अपने कजि‍न भाइयों के साथ कुश्ती लड़ती थीं. बड़े होने पर स्कूलिंग के दौरान ही उन्होंने कराटे और एरोबिक्स क्लासेज ज्वाइन कर लीं. इसके बाद जब वे अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने बंगलुरु पहुंची तो क्लाइमेट चेंज के चलते वे अक्सर बीमार रहने लगीं. इस बीमारी ने उन्हें डिप्रेसन में डाल दिया. इस बीमारी से परेशान होकर अंकिता ने एक दिन खुद से फैसला लिया कि अब वे इस डिप्रेसन में नही रहेंगी. उन्होंने डिसाइड किया कि वे अब इस डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए रेगुलर जिम जाया करेंगी. इस डिसीजन के बाद उन्होंने कॉलेज से थोड़ी दूर पर स्थित एक जिम ज्वॉइन कर लिया.




पहली नजर में हो गया वेटलिफ्टिंग से प्यार
अंकिता बताती हैं कि जब वे पहली बार जिम गईं और एक्सरसाइज के लिए वेट उठाया तो उन्हें पहली नजर में ही वेटलिफ्टिंग से प्यार हो गया. वो दिन और आज का दिन वेट ट्रेनिंग उनके वर्कआउट सेशन का रेगुलर हिस्सा बन चुका है. अंकिता का कहना है कि वेटलिफ्टिंग न केवल उन्हें फिजिकली स्ट्रांग बना रहा है बल्कि वे इससे अपने आपको मेंटली भी मजबूत पाती हैं.




आसान नही थी राह
अंकिता के पिता यूपी की पॉलिटिक्स में काफी एक्टिव हैं. साथ ही वे पूर्वांचल की रहने वाली हैं, इसके चलते उनके आस-पास का माहौल काफी रुढ़िवादी रहा है. इसके चलते उन्हें फिटनेस मॉडलिंग में करियर बनाने के लिए काफी विरोध सहना पड़ा. उन्होंने बतया कि बॉडी-बिल्डिंग कंपीटि‍शन के दौरान उनका बिकिनी पहनना हमेशा से घरवालों और रिश्तेदारों के लिए बम फटने की तरह होता है. शुरू में तो फैमिली से उन्हें बिल्कु्ल भी सपोर्ट नहीं मिला, लेकिन इससे घबराने के बजाए उन्होंने अपने आपको अपने फिटनेस शिड्यूल में पूरी तरह से डुबो दिया.


भाई और फ्रेंड्स ने किया सपोर्ट
अंकिता बताती हैं कि उनके फिटनेस मॉडलिंग के सपने को पूरा करने में जब आसपास के लोगों के विरोध का समाना करना पड़ा तो उनके छोटे भाई शिवा से उन्हें बड़ा सहयोग मिला है. वे किस भी कंपीटि‍शन में जाने और उसकी तैयारियों के बारे में केवल छोटे भाई को ही बताती थीं. भाई भी उनके प्लान्स को सीक्रेट रखकर तैयारियों में उनकी पूरी मदद करता था. इसके अलावा इंजीनियरिंग कॉलेज के दौरान उन्हें अपने दोस्त कृष का साथ मिला. प्रोफेशनल लाइफ में आने के बाद उनके ऑफिस के कलीग वरद ने उन्हें लगातार इंस्पायर किया. अंकिता अपने भाई और दोस्तों की का तहेदिल से शुक्रिया अदा करती हैं.


सेल्फ इंस्पिरेशन के लिए बनाया Facebook Page

अंकिता के मुताबिक़ जब कभी उन्हें सोसाइटी और फैमिली से सपोर्ट न मिलने के चलते वे निराश हो जाती थीं. उन्होंने इस निराशा से निजात पाने के लिए उन्होंने अपना फेसबुक पेज तैयार किया. जब उन्होंने इस पेज पर अपने वर्कआउट, कंपीटि‍शन में उपलब्धियों की तस्वीरें और वीडियो अपलोड करने शुरू किए तो उनके फॉलोवर्स का बहुत सपोर्ट मिला और लोगों काफी इन्स्पायरिंग कमेंट्स किये. इससे न केवल उनकी निराशा दूर हुई बल्कि अब वे इस पेज के जरिए अन्य लोगों को इंस्पायर करती हैं. अंकिता को बस एक ही अफ़सोस है कि उनके अलावा इस फील्ड में यूपी से कोई और लड़की सामने नही आई है. वो चाहती हैं उनकी तरह कोई और अंकिता यूपी से निकले और प्रदेश का नाम रौशन करे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top