Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

वह पकड़ी न जाती तो दरोगा बन जाती

 shabahat |  2017-03-08 15:35:00.0

वह पकड़ी न जाती तो दरोगा बन जाती


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. यूपी एसटीएफ की टीम के हत्थे आज अगर वह लूटे गये सोने के साथ नहीं पकड़ी गई होती तो पुलिस में सब इन्स्पेक्टर बन गई होती. उप निरीक्षक-2016 की सीधी भर्ती परीक्षा में उसका चयन भी हो चुका था. प्रशिक्षण पर जाने के लिये वह राज्य सरकार से नियुक्ति पत्र पाने का इंतज़ार कर रही थी लेकिन इसी बीच वह पति द्वारा लखनऊ के महानगर इलाके से लूटे गये तीन किलो सोने में से दो किलो सोना कहीं ठिकाने लगाने की फ़िराक में थी कि एसटीएफ के हत्थे चढ़ गई.

बलिया निवासी उपेन्द्र सिंह ने लखनऊ के थाना महानगर क्षेत्र में 29 दिसम्बर 2016 को पुष्पांजलि ज्वेलर्स चौक के मालिक दाताराम वर्मा के भांजे आकाश से हनुमान सेतु के पास से तीन किलो सोना लूट लिया था. लूटे गये सोने में से दो किलो उसने अपनी पत्नी चित्रा सिंह के पास रखवा दिया और खुद महाराष्ट्र. झारखंड और दिल्ली आदि स्थानों पर छुपकर रहने लगा. इस लूट में शामिल अनूप सिंह उर्फ़ मोनू जब पुलिस के हत्थे चढ़ा तब उपेन्द्र के बारे में जानकारी हुई. पुलिस की जांच बढ़ी तो जानकारी मिली कि उपेन्द्र पहचान छुपाकर इधर-उधर घूम रहा है और लूट के सोने का एक बड़ा हिस्सा उसकी पत्नी के पास मौजूद है.

इस सूचना के सत्यापन के लिये एसटीएफ की एक टीम उप निरीक्षक संदीप मिश्रा के नेतृत्व में जनपद-बलिया रवाना की गयी तथा स्थानीय मुखबिर भी लगाये गये. आज सुबह मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि उपेन्द्र सिंह की पत्नी लूट का सोना लेकर बलिया से बाहर किसी अन्य शहर में जाने की फिराक में है. इस सूचना पर एसटीएफ टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए स्थानीय पुलिस को साथ लेकर सहतवार, जनपद-बलिया स्थित उपेन्द्र सिंह के मकान पर पहुंचकर उसकी पत्नी से पूछताछ की गयी. पूछताछ के आधार पर उसके कब्जे से महानगर, लखनऊ लूट की घटना से सम्बन्धित सोने की 2 सिल्लियां बराममद कर ली गयी, जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. इसका वजन 2 किलोग्राम और कीमत लगभग 60 लाख रूपये है. गिरफ्तार अभियुक्त चित्रा सिंह को जनपद-बलिया से लखनऊ लाया जा रहा है तथा स्थानीय पुलिस के माध्यम से न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कराकर नियमानुसार विधिक कार्यवाही करायी जायेगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top