Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अपनी ही पार्टी RJD से निकाले जा सकते हैं लालू प्रसाद यादव

 Abhishek Tripathi |  2016-10-08 06:59:47.0

lalu_yadavतहलका न्यूज ब्यूरो
पटना. यह एक चौंकाने वाली खबर है। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को उनकी ही पार्टी से निकालने की कवायद चल रही है। इस खबर पर यकीन करना मुश्किल है, लेकिन सच है। शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन के समर्थकों ने एक आपात बैठक लालू को आरजेडी से निकालने का फैसला लिया है। बता दें कि, अभी हाल ही में माफिया डॉन शहाबुद्दीन बेल पर जेल से रिहा हुए थे। इसके बाद बिहार सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका डाली गई। इस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन की जमानत को रद्द करते हुए उसे वापस जेल भेज दिया।
इस बात से आरजेडी में शहाबुद्दीन के समर्थक लालू से काफी नाराज हैं।


शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन के कार्यकर्ताओं का कहना है कि शहाबुद्दीन की कुर्बानी को भुला दिया गया है। ये कोई अच्छी बात नहीं है। ऐसे में समर्थकों ने आरोप लगाया है कि लालू के कारण आरजेडी जनता के बीच में अपना विश्वास और लोकप्रियता खो रही है। यदि ऐसा ही रहा तो आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ सकता है।


20 दिन खुली हवा में ली सांस
गौरतलब है कि आरजेडी के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को 7 सितंबर को पटना हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद वो 11 साल बाद खुली हवा में सांस ली थी। शहाबुद्दीन के बाहर आने से उनके समर्थकों में काफी खुशी देखी जा रही थी, लेकिन मात्र 20 दिनों के बाद ही शहाबुद्दीन को फिर से जेल जाना पड़ गया। इससे शहाबुद्दीन के समर्थकों को गहरा झटका लगा। शहाबुद्दीन जेल से निकलने पर और जेल जाते वक्त बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला था।


बिहार सरकार ने दोबारा भेजा जेल
शहाबुद्दीन के जेल जाते ही उनके समर्थक सड़क पर उतर आए और सीवान में जमकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था। शहाबुद्दीन के जेल से निकलने पर सरकार की काफी किरकिरी हुई थी और सरकार पर यह आरोप लगा था कि सरकार की लापरवाही के कारण ही शहाबुद्दीन को जमानत मिली। तब बिहार सरकार ने शहाबुद्दीन को पटना हाई कोर्ट से मिली जमानत के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी, जिस पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन की जमानत को रद्द कर दिया और शहाबुद्दीन दोबारा जेल चले गए।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top