Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुन्ना का परिवार BJP में शामिल, पूर्वांचल में लड़खड़ाएगी RLD

 Abhishek Tripathi |  2016-12-04 07:07:54.0

bjpतहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ. राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके स्व. मुन्ना सिंह का चौहान का पूरा परिवार रविवार को बीजेपी में शामिल हो गया। मुन्ना सिंह चौहान की पत्नी शोभा सिंह और उनके बेटे राकेश कुमार सिंह मुन्ना भी बीजेपी का दामन थाम लिया। बता दें, मुन्ना सिंह चौहान पूर्वांचल एवं खासकर फैजाबाद से रालोद के इकलौते प्रिय और चर्चित चेहरे थे। वहीं, बीजेपी में उनके परिवार के शामिल होने के बाद रालोद पूर्वांचल में बिल्कुल कमजोर हो जाएगी।

मुन्ना सिंह चौहान ने फैजाबाद से शुरू की राजनीति
- राष्‍ट्रीय लोक दल के मंडल अध्‍यक्ष अनिल दुबे ने बताया कि मुन्‍ना सिंह चौहान का जन्‍म फैजाबाद के सोहावल में 5 सितंबर 1955 को हुआ था।

- वहीं से उन्‍होंने राजनीति में कदम रखा। यहां उन्‍होंने यूथ लीडर के रूप में काम करना शुरू किया।
- उस समय भी ये किसानों और छात्रों के हितों में काम करते रहे और 2002 में विधान परिषद का चुनाव लड़कर एमएलसी बने।
- इसके बाद साल 2005 में मुलायम सिंह यादव की अगुवाई में गठबंधन के चलते सिंचाई मंत्री बने।
- इस समय वो रालोद के महासचिव थे।
- 26 अक्‍टूबर 2012 को रालोद के पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष बाबा हरदेव सिंह के पद से हटने के बाद रालोद के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अजीत सिंह चौहान ने मुन्‍ना सिंह को प्रदेश अध्‍यक्ष बनाया।

तेवरों से घबराते थे अफसर
- अनिल दुबे ने बताया कि जब 2005 में मुन्‍ना सिंह चौहान सिंचाई मंत्री बने, तो अफसरों में खलबली मच गई थी।
- उनके सख्‍त तेवरों से अधिकारियों के पसीने छूट जाते थे।
- सिंचाई विभाग की योजनाओं में तेजी आ गई थी।

इन योजनाओं पर तेजी से किया काम
- रालोद के युवा राष्‍ट्रीय लोकदल के नेता रविंद्र पटेल ने बताया कि सिंचाई मंत्री रहने के दौरान मुन्‍ना सिंह ने काफी काम किए थे।
- उन्‍होंने खेतों को नहरों से सीधे जोड़ने और नहरों के नेटवर्क को नदियों से कनेक्‍ट करने की योजना पर तेजी से काम करवाया।
- इसके अलावा उन्‍होंने किसानों के लिए 'सिंचाई नहीं तो लगान नहीं' योजना का ड्राफ्ट तैयार किया।
- सिंचाई मंत्री रहते हुए चौधरी चरण विकास योजना शुरू की।
- इस योजना के अंतर्गत नहरों और नदियों के किनारे घाट और ट्रैक बनाने की व्‍यवस्‍था शुरू की गई।
- इसके अलावा विधायक और एमएलसी रहते हुए सदन में स्‍टूडेंट्स के लिए सख्‍त एंटी रैगिंग कानून बनाने को लेकर कई बार आवाज उठाई।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top