Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PBL नीलामी : सबसे महंगी खिलाड़ी रहीं, मारिन 

 Vikas Tiwari |  2016-11-09 18:02:08.0

मारिन 

नई दिल्ली. रियो ओलम्पिक में स्वर्ण पदक विजेता और मौजूदा विश्व चैम्पियन स्पेन की बैडमिंटन स्टार कैरोलीना मारिन को बुधवार को हैदराबाद हंटर्स ने प्रो बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के दूसरे संस्करण के लिए 61.5 लाख रुपये में खरीदा। मारिन पीबीएल-2 की नीलामी में सबसे महंगी खिलाड़ी रहीं। यह लीग एक जनवरी से 14 जनवरी के बीच खेली जाएगी।

दक्षिण कोरिया की महिला खिलाड़ी सुंग जी ह्यून दूसरी सबसे महंगी खिलाड़ी रहीं। उन्हें मुंबई रॉकेट्स ने 60 लाख रुपये में खरीदा।


डेनमार्क के धुरंधर पुरुष खिलाड़ी जैन ओ जोर्गेनसेन पर तीसरी सबसे बड़ी बोली लगी। उन्हें 59 लाख रुपये में दिल्ली एसर्स ने अपने साथ शामिल किया।

भारत के अग्रणी पुरुष खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत इस नीलामी में सबसे ज्यादा मुनाफे में रहे। उन्हें 51 लाख रुपये में अवध वॉरियर्स ने अपनी टीम में लिया।

रियो ओलम्पिक में रजत पदक जीतने वाली भारत की दूसरे नंबर की महिला खिलाड़ी पी. वी. सिंधु पर हालांकि अपेक्षा से काफी कम बोली लगी। उन्हें चेन्नई स्मैशर्स ने 39 लाख रुपये की सफल बोली लगाते हुए अपने क्लब में शामिल किया।

पूर्व सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त भारत की स्टार खिलाड़ी सायना नेहवाल भी बड़ी बोली आकर्षित करने में असफल रहीं। उन्हें 33 लाख रुपये में अवध वॉरियर्स ने खरीदा।

डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन 39 लाख रुपये में बेंगलुरू बुल्स का हिस्सा बने, वहीं वान हो सन को दिल्ली एसर्स ने इतनी ही राशि पर अपने साथ जोड़ा।

उल्लेखनीय है कि दुनिया के शीर्ष-3 पुरुष खिलाड़ी चीन के चेन लोंग और लिन डैन तथा मलेशिया के ली चोंग वेई इस लीग टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे।

उम्मीद के मुताबिक ही दो बार कि विश्व चैम्पियन मारिन नीलामी में सबसे बड़ी खिलाड़ी रहीं। उन्हें अपने साथ जोड़ने के लिए हंटर्स और एसर्स के बीच कड़ा मुकाबला देखा गया। आखिरकार उन्हें हंटर्स ने खरीदने में सफलता हासिल की।

लेकिन सिंधु के लिए यह नीलामी हैरान करने वाली रही। रियो ओलम्पिक में सफलता के बाद उम्मीद थी की उन पर अच्छी खासी बोली लगाई जाएगी लेकिन उनका नाम ड्रॉ की दूसरी सूची में आया जिसमें 15 आइकन खिलाड़ी शामिल थे और तब तक अधिकतर फ्रेंचाइजी बड़ी धनराशि खर्च कर चुके थे।

पिछले साल स्मैशर्स के लिए खेलने वाली सिंधु को इस बार भी उसी टीम ने खरीदा।

सिंधु ने हालांकि अपनी कीमत कम लगाए जाने को ज्यादा महत्व देने से इनकार कर दिया और कहा, "यह पैसों की बात नहीं है यह बैडमिंटन की बात है।"

फ्रेंचाइजी के मालिक ने कहा कि यह नीलामी का हिस्सा था।

वहीं फ्रेंचाइजी मालिक देश की शीर्ष बैडमिंटन स्टार सायना की चोट के कारण उनकी वापसी की समय सीमा के बारे में असमंजस की स्थिति में थे। सायना ने ओलम्पिक के बाद घुटने का ऑपरेशन कराया है, तब से वह कोर्ट से दूर हैं। उन्हें वॉरियर्स ने अपने साथ बनाए रखा।

अन्य भारतीय खिलाड़ियों में ज्वाला गुट्टा को दिल्ली एसर्स ने 10 लाख रुपये में खरीदा जबकि उनकी जोड़ीदार अश्विनी पोनप्पा को बेंगलुरू ने 15 लाख में अपने क्लब में शामिल किया।

अन्य आइकन खिलाड़ियों में हंटर्स ने मलेशियाई खिलाड़ी वी किओंग टान को 33 लाख रुपये में खरीदा। दक्षिण कोरियाई खिलाड़ी ली यंग डेए को रॉकेट्स ने 37.5 लाख रुपये में खरीदा।

इस नीलामी में कुल 154 खिलाड़ियों की बोली लगाई गई, जिसमें 16 ओलम्पिक पदकधारी हैं। 50 खिलाड़ियों को फ्रेंचाइजियों ने खरीद लिया है। हर फ्रेंचाइजी के पास खिलाड़ी को खरीदने के लिए 1.93 करोड़ रुपये की सीमा थी।

इस लीग में एक दिन में पांच मैच खेले जाएंगे जिसमें दो पुरुष एकल, एक महिला एकल एक पुरुष युगल और एक मिश्रित युगल के मैच होंगे। हर मैच में आइकन खिलाड़ी के अलावा कम से कम दो भारतीय खिलाड़ी होना आवश्यक है।

पीबीएल के मुख्य सलाहकार पुलेला गोपीचंद ने कहा कि लीग में जिस तरह के खिलाड़ी खेलेंगे उसको देखते हुए यह काफी रोमांचक होगी।

भारत की राष्ट्रीय टीम के कोच गोपीचंद ने कहा, "इस खेल ने देश में काफी रोमांच पैदा किया है, खासकर रियो ओलम्पिक के बाद। दर्शकों की संख्या को ध्यान में रखते हुए यह लीग के आयोजन का सबसे उपयुक्त वक्त है।"

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top