Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

शहीद रमाशंकर दिसंबर में करने वाले थे बेटी का कन्यादान

 Abhishek Tripathi |  2016-11-01 04:05:21.0

balliaतहलका न्यूज ब्यूरो
बलिया. भोपाल में सिमी के आतंकियों ने भागते वक्त कांस्टेबल रमाशंकर यादव की हत्या कर दी थी। रमाशंकर की बेटी की शादी होने वाली है अगले महीने लेकिन कन्यादान का सपना अधूरा रह गया है।


'आतंकियों ने ना सिर्फ देश का सच्चा सिपाही हमसे छीना बल्कि मेरे पापा को भी मुझसे दूर कर दिया। अब कौन मेरी डोली उठाएगा, कौन मेरा कन्यादान करेगा, कौन मुझे दुल्हन बने देखकर खुश होगा। पापा आपका सपना अधूरा रह गया।' ये दर्द है उस बेटी का जिसने अपने पिता को खोया है। रमाशंकर यादव दिसंबर में अपनी बेटी की शादी रने वाले थे, लेकिन शादी के सिर्फ 40 दिन पहले ही उनकी मौत से पूरा परिवार सदमे में है।


यूपी में बलिया जिले के राजपुर गांव के इस घर में मातम छाया हुआ है। रमाशंकर की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है। पूरे गांव शोक में है जिसको पता लग रहा है वो रमाशंकर के घर पहुंच रहा है। रमाशंकर यादव स्वभाव में बेहद सरल थे उनके दिल में देशभक्ति का जज्बा था इसी वजह से उनके दोनों बेटे देश की सेवा के लिए सेना में भर्ती हुए। रमाशंकर का परिवार जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगा रहा है।


आठों सिमी आतंकियों का एनकाउंटर कर रमाशंकर यादव की शहादत का बदला तो ले लिया गया, लेकिन उनकी बेटी के दिल में जिंदगी भर ये दर्द रहेगा कि जिस पिता ने उसको उम्मीदों से पाला वो उसको विदा करने के लिए नहीं होंगे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top