Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नारी अस्मिता पर भिड गयी मायावती-स्वाती

 Tahlka News |  2016-07-24 08:56:05.0

नारी अस्मिता पर भिड गयी मायावती-स्वाती
तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. यूपी की सियासत में छिड़े नारी सम्मान और अस्मिता के मामले पर बसपा सुप्रीमो मायावती और भाजपा नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाती सिंह आमने सामने आ गयी है.

पत्रकारों से बात करते हुए मायावती ने स्वाती और उनकी सास को इस मामले को निजी बना देने का आरोप लगाया . मायावती ने कहा कि संसद में उनके बयान के बाद दयाशंकर सिंह के परिवार की महिलाओ ने जो अपने परिवार की महिलाओं के सम्मान में मेरे खिलाफ मुकदमा कर दिया, स्वाती ने दय्शंकर सिंह की आलोचना तो की मगर दयाशंकर सिंह की माँ यदि साथ में मेरे खिलाफ किये गए दयाशंकर की टिपण्णी के खिलाफ भी मुक़दमा करा देती तो देश की सभी महिलाये उन्हें सर आँखों पर बैठा लेती और उनके साथ होती.


मायावती ने इस तरह स्वाती सिंह और उनकी सास पर पूरी नारी अस्मिता को निजी मामला बना देने का आरोप लगा दिया. मायावती का इशारा इस और भी था कि दयाशंकर ने सिर्फ उन्हें अपशब्द नहीं कहे बल्कि दलित समाज की महिलाओं के प्रति अपनी दुर्भावना निकाली.

मायावती की प्रेस वार्ता के तुरंत बाद स्वाती सिंह ने पलटवार कर दिया. स्वाती ने कहा कि मायावती की इज्जत बहुत बड़ी है मगर आम आदमी की इज्जत का क्या? स्वाती ने स्सीधे सवाल के जरिये पूछा कि मायावती बताये कि ने खुद उन्होंने महिलाओं के लिए क्या किया?

बिफरी स्वाती ने कहा कि मुझे मायावती नसीहत दे रही मगर मायावती को BSP नेताओं के नारे का वीडियो देखना चाहिए, और पहले मायावती अपने अंदर झांके और बताये कि मायावती क्या सिर्फ दलितों के लिए हैं ?

स्वाति सिंह ने अपनी लडाई में सभी पार्टियों से मदद मांगी है , बेटी को समझाती हूं कि उसकी लड़ाई लड़ रही हूं.

स्वाती ने कहा कि जिसके दिल व जिस पार्टी की नीतियों में माँ बहन बेटी का सम्मान हो मेरा साथ दें, मुझे इंसाफ़ दिलाये, मायावती जी बताएं कि  सर्वजन का हित क्या हज़रत गंज की तरह या किसी का घर जलाकर गाली देकर पूरा होगा  ?

अपना आक्रोश जाहिर करते हुए स्वाती ने कहा कि जिनकी करनी थी आलोचना उनका हो रहा सम्मान. मैं कोई नेता नहीं ना ही मेरी राजनैतिक लड़ाई है, ना ही मैं कोई राजनैतिक मुद्दा हूँ मैं भी मायवती की तरह एक महिला हूँ,  मेरा भी सम्मान उनकी तरह बराबर है मैं अपने व बेटी व माँ के सम्मान की लड़ाई आम जनमानस के माँ बहन बेटी के सम्मान की लड़ाई के प्रतीक के रूप में लड़ रही हूँ और तब तक लडुंगी जब तक आम महिला और माँ  बहन बेटी के सम्मान  और मायवती जी जैसी नेता रूपी महिला के सम्मान को बराबरी का दर्जा नहीं दिया जाता !

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top