Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

ALERT: 1 जुलाई से नियमों में कोई बदलाव नहीं , रेलवे ने जारी किया खंडन

 Anurag Tiwari |  2016-06-24 08:28:52.0

no change in railway rules1

तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. रेल मंत्रालय ने सोशल मीडिया और मीडिया के कुछ सेक्शन में चल रही इन खबरों का खंडन किया है, जिसमे कहा जा रहा है कि 1 जुलाई से रेलवे अपने नियमों में बड़ा फेर बदल करने जा रहा है। रेल मन्त्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर इन ख़बरों को पूरी तरह निराधार बताया है।

रेलवे ने जारी की प्रेस रिलीज़

सूचना और प्रसारण मंत्रालय की वेबसाइट पर प्रेस रिलीज़ जारी करते हुए रेलवे ने इस सम्बन्ध में स्पष्टीकरण भी जारी किया है। रेलवे के अनुसार मीडिया के एक धड़े ने बिना किसी आधिकारिक पुष्टि किए यह खबर चला दी कि रेलवे 1 जुलाई से अपने नियमों में बड़ा बदलाव करने जा रहा है।

रेलवे का स्पष्टीकरण

- 1 जुलाई 2016 से नियमों में कोई बदलाव नहीं।



- रेलवे ऑनलाइन वेटलिस्टेड ई-टिकट और पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम के जरिए वेट-लिस्टेड टिकट जारी करता रहा है और भविष्य में भी ऐसा करता रहेगा।

- रेलवे 25 जुलाई, 2015 से सुविधा ट्रेनों का संचालन कर रहा है और इनका संचालन करता रहेगा। इन ट्रेनों में भी वेटलिस्टेड टिकट उपलब्ध हैं। सुविधा ट्रेनों के वेटलिस्टेड टिकट की वापसी पर आंशिक वापसी की सुविधा है, जो प्रशासनिक और कैंसलेशन शुल्क काटकर वापस किया जाता है।

- रेलवे ने रिफंड के लिए नए नियम नवम्बर 2015 में जारी किए थे, वे अभी भी लागू हैं।

- रेलवे द्वारा शताब्दी और राजधानी ट्रेनों में पेपर टिकट की सुविधा को बंद करने की कोई योजना नहीं है। यह सुविधा किसी भी ट्रेन में बंद नहीं की जाएगी। ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले पैसेंजर्स को एसएमएस के जरिए उनके टिकट का विवरण मिलता है जो कि जर्नी के दौरान टिकट की तरह ही वैध माना जाएगा।

- पिछले साल तत्काल टिकट के बुकिंग के समय में बदलाव किया गया था, एसी क्लास के लिए जर्नी के एक दिन पहले 10 बजे सुबह से और नॉन-एसी टिकटों  की बुकिंग 11 बजे सुबह से जर्नी के एक दिन पहले निर्धारित किया गया है। इन नियमों में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है।

- कोच और ट्रेनों की बुकिंग नियमों में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है। वर्तमान नियम पिछले कई वर्षों से लागू है और यही प्रभावी है।

-  ततकाल टिकटों के रिफंड में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है। वर्तमान नियमों के अनुसार कन्फर्म तत्काल टिकट या डुप्लीकेट तत्काल टिकट पर कोई रिफंड उपलब्ध नहीं है, यह नियम अभी भी प्रभावी है।

- रेलवे पहले से ही डेस्टिनेशन अलर्ट की सुविधा 139 हेल्प लाइन सेवा के जरिए दे रहा है। इस सुविधा के अलावा पायलट बेसिस पर कुछ राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में ट्रेनों के डेस्टिनेशन पर पहुँचने का अलर्ट देने की सुविधा सुबह 11 बजे से दुसरे दिन सुबह 6 बजे शुरू की गई है। इस सुविधा में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है।

- रेलवे अपना नया टाइम टेबल अक्टूबर 2016 में जारी करेगा।













Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top