Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जेपी के गाँधी संस्थान को बचाने के लिए शुरू हुआ संघर्ष

 Tahlka News |  2016-08-01 07:53:33.0

[caption id="attachment_99817" align="aligncenter" width="810"]jp varanasi जेपी के गाँधी संस्थान को बचाने के लिए शुरू हुआ संघर्ष[/caption]

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

वाराणसी. लोकनायक जयप्रकाश नारायण द्वारा वाराणसी में स्थापित गांधी विद्या संस्थान  को फिर से शुरू करने की मुहीम तेज हो गयी है. देश के तमाम गाँधी और जेपी के अनुयाइयों ने बनारस के राजघाट स्थित दि गांधियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्टडीज ( गाँधी विद्या संस्थान ) पर प्रदर्शन करके संस्था को अनाधिकृत कब्ज़े से मुक्त करके पुनः संचालित करने की मांग की है.


प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व 92 वर्षीय प्रो. रामजी सिंह ने किया जो जेपी के निकट सहयोगी रहे हैं.

देश भर से आये गॉंधी और अहिंसा पर विश्वास रखने वाले 100 से अधिक लोग संस्था के मुख्य भवन व् अतिथि भवन नारे लगाते हुए गए. जेपी की मूर्ति के सामने लोगो ने “ जयप्रकाश अमर रहे ” “ गाँधी विद्या संस्थान अवैध कब्जेदारो से मुक्त करो” ,“ पुस्तकालय हमारी धरोहर है उसे मुक्त करो ” “ के नारे लगाये.
वक्ताओं ने जे पी प्रतिमा को साक्षी मानकर संस्था को पुनः उसकी खोयी ख्याती को दिलाने का संकल्प लिया.विभिन राज्यों से आये हुए लोकनायक के सिपहसालारों ने गाँधी विद्या संस्थान की दुर्दशा पर गहरी चिंता व्यक्त की.

इस मुक्ति अभियान के लोगो का कहना है कि संस्था पर गत कई वर्षो से अवैध लोगो का कब्ज़ा है जो मुख्य भवन मे संस्कृत की पाठशाला चला रहे है. संस्था से निष्कासित एक कर्मचारी इनलोगों से एक लाख रुपए महीना किरायदारी वसूल रही है. जेपी द्वारा बनाई ये संस्था गत कई वर्षो से उन अवैध लोगो के हाथ मे है जो गाँधी और जयप्रकाश के विचारो के विरोधी हैं.

इस अवसर पर उपस्थित लोगो मे प्रो. रामजी सिंह, पूर्व निदेशक गाँधी विद्या संस्थान, महादेव विद्रोही, अध्यक्ष अखिल भारत सर्व सेवा संघ, भवानी शंकर राष्ट्रीय प्रवक्ता सर्व सेवा संघ. जे पी आंदोलन के प्रमुख नेता एवं वरिष्ठ पत्रकार रामदत त्रिपाठी , राम धीरज सिंह, शिव विजय सिंह संयोजक, मुनीज़ा रफ़ीक खान कार्यवाहक कुलसचिव, टी आर एन प्रभु , गोरखनाथ यादव, अशोक मोती, अरविन्द अंजुम, विजय भाई , शेख हुसैन महामंत्री सर्व सेवा संघ प्रमुख रहे.

पूर्व सांसद और जे पी आन्दोलन के प्रमुख नेता संतोष भारतीय ने भी इस आन्दोलन का समर्थन किया . गाँधी विद्या संस्थान मुक्ति अभियान की संयोजिका मुनीज़ा खान ने बताया कि इस मुद्दे पर अगली बैठक व धरना 27 अगस्त को लखनऊ मे गाँधी प्रतीमा के सामने प्रो. रामजी सिंह के नेतृत्व मे किया जायगा .

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top