Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कुछ ही घंटों में सपा के हो सकते हैं मुख्तार अंसारी

 Sabahat Vijeta |  2016-08-15 14:02:38.0

Mukhtar-Ansari-and-Mulayam-Singh-Yadav
तहलका न्यूज ब्यूरो


लखनऊ. सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के समाजवादी पार्टी में विलय के संकेत दे दिए हैं. इस मुद्दे पर यूपी सरकार के वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव के साथ उनकी गहन मंत्रणा चल रही है. यह माना जा रहा है कि कौमी एकता दल और समाजवादी पार्टी का विलय अब महज़ औपचारिकता रह गई है.


सीएम अखिलेश यादव की वजह से समाजवादी पार्टी और कौमी एकता दल का विलय इसी साल जून के महीने में रद्द हो चुका है. अखिलेश ने साफ़ कर दिया था कि माफिया डॉन मुख्तार अंसारी जैसों की सपा में कोई जगह नहीं है. इसके बाद यह बात भी सामने आई कि कौमी एकता दल तो सपा में मिलेगा लेकिन मुख्तार सपा में नहीं आयेंगे. विलय हो भी गया और मुख्तार अंसारी को आगरा जेल से लखनऊ जेल भी ट्रांसफर कर दिया गया लेकिन सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को अखिलेश के तेवरों के सामने झुकना पड़ा और विलय रद्द हो गया.


साल 2012 में हुए विधानसभा चुनाव के समय डीपी यादव को टिकट न देकर अखिलेश ने जो लोकप्रियता बटोरी थी वह मुख्तार के पार्टी में आने से जाती नज़र आयी थी. हालांकि, शिवपाल सिंह यादव ने मुख्तार अंसारी का नाम न लेते हुए कहा कि वे सपा में शामिल नहीं हुए हैं, लेकिन वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक राजेन्द्र कुमार ने कहा कि जिस कौमी एकता दल से मुख्तार खुद विधायक हैं, जब उसका विलय सपा में हो गया तो वे सपा से बाहर कैसे हो सकते हैं?


सीएम अखिलेश यादव के कड़े तेवर के बाद कौमी एकता दल का सपा में विलय नहीं हो सका. सीएम ने खुल शब्दों में कहा 'मुख्तार अंसारी के लिए सपा में कोई जगह नहीं है.' अखिलेश के इन तेवरों के बाद मुख्तार के बड़े भाई और पार्टी के अध्यक्ष अफजाल अंसारी ने कहा था कि 'सपा ने धोखा दिया है. चुनाव से पहले सपा यूपी में दंगे करवाना चाहती है.' सपा की तारीफों के पुल बांधने में लगे अफजाल अंसारी विलय रद्द होते ही हमलावर हो गए थे. अफजाल ने पूर्वांचल में सपा को औकात दिखाने की बात कही थी. लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस कर अफजाल अंसारी ने सीएम अखिलेश के सारे विकास के दावों को बेकार बताते हुए कहा था कि गरीबों को ऐसे विकास से कोई लाभ नहीं होगा. जबकी जब विलय हो रहा था तब यही अफजाल सपा और सीएम अखिलेश के विकास को सर्वे-सर्वा बता रहे थे.


अफजाल ने कहा था कि बाप-बेटे को एक-दूसरे की परवाह नहीं


अफजाल ने मुलायम और अखि‍लेश पर एक साथ निशाना साधते हुए कहा, 'मुलायम को न तो अखि‍लेश के सिद्धां‍तों की परवाह है और न ही अखि‍लेश को अपने पिता के निर्णयों का सम्मान करने की ही फिक्र है. उन्होंने ये भी कहा कि पूर्वांचल में उनकी पार्टी सपा को औकात दिखा देगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top