Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

JNU के दलित छात्र ने की खुदकुशी, रोहित वेमुला न्याय आंदोलन के थे सक्रिय सदस्य

 Girish |  2017-03-14 04:46:44.0

JNU के दलित छात्र ने की खुदकुशी, रोहित वेमुला न्याय आंदोलन के थे सक्रिय सदस्य

दिल्‍ली: जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के एमफिल के छात्र मुथुकृष्णनन जीवानंदम उर्फ रजनी कृष ने सोमवार शाम को आत्‍म हत्‍या कर ली। 27 साल के मुथुकृष्णनन का शव दक्षिण दिल्ली के मुनिरका इलाके में एक दोस्त के घर पंखे से लटकता हुआ मिला।

बता दें कि मुथुकृष्णनन हैदराबाद विश्वविद्यालय में रोहित वेमुला के लिए न्याय को लेकर चले आंदोलन के भी सक्रिय सदस्य थे। उन्हें लोग उनके अभिनय और कहानियों के चलते जानते थे। मुथुकृष्णनन जीवानंदम ने फेसबुक पर रजनी कृष के नाम से अपना प्रोफाइल बनाई थी। जिस पर वे एक दलित छात्र की कहानी लिख रहे थे।

वहीं, पुलिस के मुताबिक वह निजी कारणों को लेकर अवसाद में था जबकि उसके दोस्तों ने उसका फेसबुक पोस्ट साझा किया जिसमें उसने एमफिल और पीएचडी दाखिले में कथित भेदभाव का आरोप लगाया था।

तमिलनाडु के सेलम जिले के रहने वाले मुथुकृष्णनन जीवानंदम ने अपने आखिरी फेसबुक पोस्ट में उन्होंने असमानता की बात की थी। 10 मार्च को लिखे गए पोस्ट में उन्होंने लिखा है, "एमफिल/पीएचडी प्रवेश में कोई समानता नहीं है। वाइवा में कोई समानता नहीं है। यहां केवस समानता का खंडन है। प्रोफेसर सुखदेव थोरट की सिफारिश से इनकार करते हैं, एड ब्लॉक में छात्रों के विरोध नकारते हैं, मार्जिनल की शिक्षा को नकारते हैं। जब समानता से इनकार किया जाता है तो सब कुछ वंचित हो जाता है।

मुथुकृष्णनन उर्फ रजनी कृष ने कोयबंटूर से बीएड की पढ़ाई की थी, जिसके बाद हैदराबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय ने एम. ए. एमफिल. की पढ़ाई पूरी की। वे इससे पहले रोहित वेमुला और उनकी मां राधिका वेमुला के संघर्ष पर एक ब्लॉग भी लिख चुके हैं।

जानकारी के अनुसार, होली मनाने के लिए क्रिश और उसके 7-8 दोस्त फ्लैट में इक्ट्ठा हुआ थे। दोस्तों के मुताबिक वह सुबह से ही थोड़ा परेशान दिख रहा था। दोपर एक बजे के आस-पास सभी दोस्त क्रिश के फ्लैट में एकत्र हुए थे। वह ठीक तरह से बात नहीं कर पा रहा था। फिर उसने दोस्तों से सोने के लिए बोला। उसके बाद वह फ्लैट के कमरे में सोने चला गया और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया।

लगभग दो बजे दोस्तों नें खाने के लिए दरवाजा को खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। दोस्तों को लगा कि वह सो रहा है। कुछ देर बाद भी कमरे से कोई जवाब नहीं मिलने पर दोस्तों ने दरवाजे को जोर से जोर से पीटना शुरू कर दिया। इसी दौरान दरवाजे के गैप देखा कि क्रिश पंखे से लटक रहा है। इसके बाद दोस्तों ने पुलिस को बुलाया। पुलिस ने दरवाजे को तोड़कर शव को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक सोमवार शाम पांच बजे पीसीआर कॉल आई थी। कॉल में कहा गया था कि एक छात्र ने खुद को कमरे के अंदर बंद कर लिया है। जिसके बाद पुलिस टीम मुनिरिका विहार के एक घर पहुंची। मौके पर पहुंची पुलिस को एक कमरा अंदर से बंद मिला। पुलिस जब दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी तो शव पंखे से लटकता मिला। क्राइम टीम ने घटनास्थल का मुआयना किया और फोटोग्राफी भी करवाई।

Tags:    

Girish ( 4001 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top