Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

समाजवादी पार्टी के लिये फैसलाकुन है आज की रात

 shabahat |  2017-01-15 17:30:18.0

समाजवादी पार्टी के लिये फैसलाकुन है आज की रात


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के लिये आज की रात फैसलाकुन रात है. चुनाव आयोग की तरफ से कल यह फैसला आने की पूरी उम्मीद है कि साइकिल किसकी होगी. साइकिल समाजवादी पार्टी का जाना-पहचाना चुनाव निशान है. इस निशान पर मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव दोनों ने ही दावा ठोंक रखा है. दोनों ही यह बात बहुत अच्छी तरह से जानते हैं कि इस चुनाव में साइकिल की सबसे अहम भूमिका होगी.

हालांकि मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव दोनों ने ही वैकल्पिक चुनाव निशानों को लेकर खुद को मानसिक रूप से तैयार कर लिया है. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्त्ता भी इसके लिये मन से तैयार होने लगे हैं. वैसे दोनों ही गुटों को यही भरोसा है की साइकिल उन्हीं को मिलेगी. अखिलेश यादव के समर्थक यह कहने से नहीं थक रहे हैं कि वह अखिलेश के चेहरे पर चुनाव जीतेंगे लेकिन सच्चाई यह भी है कि उन्हें अच्छी तरह से यह पता है कि चुनाव तो निशान ही लड़ेगा क्योंकि ईवीएम पर प्रत्याशियों का चेहरा तो होगा लेकिन अखिलेश का चेहरा नहीं होगा.

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने हालांकि बहुत कोशिश की कि चुनाव आयोग के बाहर ही फैसला हो जाये लेकिन बात बन नहीं पाई. अब दोनों खेमे चाहते हैं कि साइकिल उन्हीं की हो. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इंतज़ार कर रहे हैं कि आयोग का फैसला आ जाये तो प्रत्याशियों की लिस्ट को फाइनल टच दे दिया जाये. लेकिन शिवपाल सिंह यादव को भरोसा है कि साइकिल उन्हीं को मिलने वाली है और इसी भरोसे को लेकर वह लगातार प्रत्याशी घोषित करते जा रहे हैं कल उन्होंने अपने भतीजे का टिकट काट दिया और आज उत्तराखंड में 27 प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी.
सोमवार को चुनाव आयोग यह फैसला सुनाएगा कि साइकिल मुलायम की है या अखिलेश की लेकिन टिकट पाने वालों की भीड़ मुलायम के आवास पर भी जमा है और अखिलेश के दरवाज़े पर भी. उत्तर प्रदेश में पहले चरण की चुनाव प्रक्रिया के तहत नामांकन दाखिल करने में काफी कम वक्त है. राज्य में सात चरणों में मतदान होंगे. पहले चरण का मतदान 11 फरवरी से शुरू होगा.

अखिलेश यादव के करीबी एमएलसी सुनील सिंह साजन का कहना है कि अखिलेश हमारा चेहरा हैं और हम उसी पर वोट मांगेंगे. उन्होंने कहा कि अगर चुनाव आयोग नया चुनाव निशान देता है तो चुनौती तो खड़ी होगी लेकिन हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं. हम मुख्यमंत्री के पिछले पांच साल में किए गए काम पर भरोसा कर रहे हैं.
उधर मुलायम गुट भी पूरी तरह से आश्वस्त है कि साइकिल उसी की है. शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि चुनाव आयोग नेताजी के पक्ष में फैसला देगा. उन्होंने कहा कि स्थिति जल्दी ही स्पष्ट हो जाएगी. अखिलेश गुट के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कहा कि पूरी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ है. अखिलेश को सर्वसम्मति से राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है और हमें यकीन है कि साइकिल हमें ही मिलेगी.

मकर संक्रांति के मौके पर मुलायम सिंह यादव से मिलने गए नरेश उत्तम ने कहा कि पिता-पुत्र एक साथ हैं. हम अखिलेश के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे और नेताजी हमें मार्गदर्शन देंगे. वह पिता ही नहीं, बल्कि हमारे नेता भी हैं.
इस सबके बीच अखिलेश अपने निकट सहयोगियों के साथ चुनावी रणनीति को अंतिम रूप देने में लगे हैं. पार्टी के भीतर के लोगों का कहना है कि अखिलेश उम्मीदवारों की नई सूची तैयार कर रहे हैं. इस सूची से दागी नामों को बाहर किया जा रहा है. योग्य लोगों को टिकट दिये जा रहे हैं.


Tags:    

shabahat ( 2177 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top