Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जानें 4 मार्च इतिहास में क्यों है खास..

 Vikas tiwari |  2017-03-02 20:15:59.0

जानें 4 मार्च इतिहास में क्यों है खास..

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. आज 4 मार्च है. देश और दुनिया के इतिहास में 4 मार्च कई कारणों से महत्वपूर्ण है, जिनमें से ये सभी प्रमुख हैं...


1788 – पश्चिम बंगाल में कलकत्ता गजट का पहला प्रकाशन.


1789 – अमेरिकी कांग्रेस की बैठक हुई और संविधान को लागू करने का एलान किया.


1797 – जॉन एडम्स अमेरिका के दूसरे राष्ट्रपति बने, इससे पहले वे उपराष्ट्रपति थे.


1837 – अमेरिका के तीसरे सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले शहर शिकागो को शहर का दर्जा मिला.


1882 – पूर्वी लंदन में पहली बार बिजली से चलने वाली ट्राम का संचालन हुआ.


1894 – शंघाई में लगी भीषण आग में 1000 से ज्यादा घर तबा​ह हुए.


1902 – शिकागो में अमेरिकन ऑटोमोबाइल एसोसिएशन की स्थापना हुई.


1921- हिंदी के लोकप्रिय साहित्यकार फणीश्वरनाथ रेणु का जन्म हुआ.


1921 – असहयोग आंदोलन में इस दिन ननकाना के एक गुरुद्वारे, जहाँ पर शान्तिपूर्ण ढंग से सभा का संचालन किया जा रहा था, पर सैनिकों के द्वारा गोली चलाने के कारण 70 लोगों की जानें गई.

1931 – ब्रिटिश वायसराय, गवरनोर-जनरल एडवर्ड फ्रेदेरिक्क लिन्द्ले वुड और मोहनदास करमचंद गाँधी जी (महात्मा गाँधी) में भेंट राजनीतिक कैदियों की रिहाई और नमक के सर्वजन उपयोग की छूट को लेकर मंत्रणा और इकरारनामे की घोषणा.


1936 – जर्मनी में पहली बार हिंडेनबर्ग हवाई जहाज ने आधिकारिक उड़ान भरी.


1951 – नयी दिल्ली में पहले एशियाई खेलों का आयोजन.


1961 – भारत के पहले विमान वाहक युद्धपोत आईएनएस विक्रांत की तैनाती.


1977 – रोमानिया में भूकंप से 1541 लोगों की मौत.


1999 – संयुक्त राष्ट्र के कर्मचारियों को अपनी परित्यक्ता पत्नी एवं बच्चों को जीवन निर्वाह भत्ता देने की घोषणा.

2001-तालिबान ने मूर्तियों को खरीदने की ईरान की पेशकश ठुकराई.

2002- अफगानिस्तान में भूस्खलन के कारण 150 लोगों की मौत हो गई.


2002 – राष्ट्रमंडल में जिम्बाब्वे के ख़िलाफ़ प्रस्ताव नामंजूर, अफ़ग़ानिस्तान में भूस्खलन से 150 मरे.

2008- संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने ईरान के खिलाफ नई पाबंदियां लागू की.


2009 – राजस्थान के पोखरन से ब्रह्मोस मिसाइल के नये संस्करण का परीक्षण किया गया.


2012 – कांगो गणराज्य में युद्धक सामग्रियों के मलबे में विस्फोट से करीब 250 लोगों की मौत.


2012 – व्लादिमिर पुतिन ने रुस के राष्ट्रपति पद का चुनाव जीता.








Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top