Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अमर सिंह का खुलासा, आजम ने दुबई में कराया हेयर ट्रांसप्लांट

 Anurag Tiwari |  2017-02-17 11:55:06.0

अमर सिंह का खुलासा, आजम ने दुबई में कराया हेयर ट्रांसप्लांट

तहलका न्यूज वेब टीम


समाजवादी पार्टी के पारिवारिक झगड़े में अलग-थलग पड़े अमर सिंह ने आजम खान के ऊपर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि आज़म खान ने जयाप्रदा के पार्टी में आने पर उन्हें हूरबानो कहकर पुकारा था. उन्होंने यह भी खुलासा किया कि आज़म खान ने अपने हेयर ट्रांसप्लांट कराया है.

अमर सिंह ने यह खुलासा एक निजी चैनल को इंटरव्यू देते हुए किया. अमर सिंह का दावा है कि साल 2004 में जयाप्रदा को रामपुर से चुनाव लड़ाने का फैसला आजम खान का था और उन्होंने कहा था, "रामपुर में नूरबानो को हराने के लिए मुझे हूरबानो मिल गई है."

आज़म खान ने दुबई में कराया था हेयर ट्रांसप्लांट

अमर सिंह ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि आज़म खान उन्हें गंजा जानवर कहकर पुकारते हैं, जबकि उन्होंने खुद दुबई जाकर हेयर ट्रांसप्लांट करवाया है. अमर ने कहा कि अगर वे भी चाहें तो दुबई जाकर उन्हीं डॉ सादिक से हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकते हैं लेकिन उन्हें इसकी कोई जरूरत नहीं है क्योंकि अगर वे गंजे हैं तो गंजे हैं और उसी में खुश हैं.




जयाप्रदा ने की तारीफ़ तो खफा हुए आज़म

अमर सिंह ने दावा किया कि जयाप्रदा ने आज़म खान के सामने उनकी तारीफ कर दी तब से वे उनके खिलाफ ज़हर उगलने लगे हैं. अमर सिंह का दावा है कि जब जयाप्रदा ने रामपुर से चुनाव जीता, उसके बाद जश्न हुआ. इसी दौरान जयाप्रदा ने आज़म खान के सामने अमर सिंह के तारीफों के पुल बाँध दिए. इसके बाद से रामपुर के शमशेर ने उनके ऊपर शमशीर तान दी.


आज़म-रामगोपाल-नरेश की तिकड़ी ने अखिलेश के कान भरे
अमर सिंह का आरोप है कि अखिलेश यादव और उनके बीच दूरी बढ़ने का कारण आज़म-रामगोपाल-नरेश अग्रवाल की तिकड़ी है. अमर सिंह का आरोप है कि इन तीनों ने उनके खिलाफ अखिलेश के कान भरे, जिससे इन दोनों के बीच दूरियां बढीं.

'आजम, रामगोपाल, नरेश अग्रवाल ने अखिलेश को भड़काया'
अमर सिंह का कहना है कि मुलायम ने उनका हमेशा मान-सम्मान किया, लेकिन रामगोपाल यादव, आज़म खान और नरेश अग्रवाल ने अखिलेश यादव को उनके खिलाफ भड़काया.

अमर सिंह का दावा वे कंस नहीं द्रोणाचार्य
समाजवादी महाभारत में उन्हें कंस की उपाधि दिए जाने पर अमर सिंह, खासे दुखी दिखे. उन्होंने कहा कि उन्हें अब कंस मामा कहा जा रहा है, लेकिन वे कंस नहीं, बल्कि अखिलेश के गुरु द्रोणाचार्य हैं. उन्होंने कहा, 'अखिलेश को पढाई के लिए ऑस्ट्रेलिया लेकर मैं गया, पढाई के बाद अखिलेश की पहली नौकरी भी लगवाई, यहाँ तक कि पहली बार चुनाव का टिकट मैंने दिलवाया, समाजवादी पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष मैंने बनवाया और अखिलेश की डिंपल से शादी भी मैंने करवाई, जबकि मुलायम तो अखिलेश की शादी के सख्त खिलाफ थे.'


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top