Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद चीन और पाकिस्तान ने मिलाया हाथ

 shabahat |  2017-03-17 15:10:19.0

यूपी में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद चीन और पाकिस्तान ने मिलाया हाथ


नई दिल्ली. पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में 4 विधानसभाओं पर भारतीय जनता पार्टी का क़ब्ज़ा होने और इसके पीछे प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का जादू चलने की बात साबित होने के बाद से भारत के दो पड़ोसी चीन और पाकिस्तान दोनों ही परेशान हो गये हैं. अब दोनों ने मिलकर भारत के खिलाफ एकजुट होने का प्लान बनाया है. भारत के यह दोनों पड़ोसी नरेन्द्र मोदी के लगातार बढ़ते क़द से परेशान नज़र आ रहे हैं. भारत के खिलाफ मोर्चेबंदी में चीन और पाकिस्तान पहले से ज्यादा करीब आने जा रहे हैं. अब यह दोनों देश एक साथ मिलकर बैलिस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और लड़ाकू विमान बनाने वाले हैं.

पाकिस्तानी सेना के नए मुखिया जनरल कमर जावेद बाजवा इन दिनों चीन की यात्रा पर हैं. कमर जावेद बाजवा ने ब्रहस्पतिवार को सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के तहत चीन के ज्वाइंट स्टाफ डिपार्टमेंट फंग फेंघुई, कार्यकारी उप प्रधानमंत्री झांग गाओली, सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के उपाध्यक्ष जनरल फैन चांगलांग और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के कमांडर जनरल ली झाउचेंग से मुलाक़ात की और आपस में सैन्य सहयोग बढ़ाने पर विमर्श किया.

दरअसल चीन और पाकिस्तान दोनों भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लगातार बढ़ते प्रभाव से खासे परेशान हैं. इन दोनों देशों की विधानसभा चुनावों पर निगाहें लगी हुई थीं. इनमें सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश पर नज़रें बनी हुई थीं. देश के सबसे बड़े प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने जिस प्रचंड बहुमत को हासिल किया है उसने चीन और पाकिस्तान दोनों की नींद उड़ा दी है. इसी वजह से भारत के खिलाफ यह दोनों देश एकजुट होकर करीब अ गये हैं.

चीन के एक अखबार 'ग्लोबल टाइम्स' में प्रकाशित एक खबर में कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी की यूपी जीत के बाद चीन और भारत के सम्बन्धों में भारत का रुख और सख्त होता दिख रहा है. अखबार ने लिखा है कि नरेन्द्र मोदी सरकार बनने के बाद से ही भारत आक्रामक रुख दिखाता रहा है और अब जब वह देश के सबसे बड़े प्रदेश उत्तर प्रदेश में इस प्रचंड जीत का जश्न मना रहे हैं तो भारत की आक्रामकता और बढ़ना भी तय लग रहा है. ऐसे में लग रहा है कि भारत अब चीन जैसे देशों के साथ समझौता नहीं करने की नीति अपनाएगा.

चीन भारत के मिसाइल प्रोग्राम में यह पहले ही देख चुका है कि भारत को उसकी नाराजगी की परवाह नहीं है. ऐसे में चीन ने भारत को यह धमकी भी दी है कि अगर भारत ने इस पर रोक नहीं लगाई तो वह पाकिस्तान के मिसाइल प्रोग्राम का समर्थन करेगा. भारत के अग्नि 5 के सफल परीक्षण के बाद चीन ने पाकिस्तान के साथ सैन्य सहयोग बढ़ाने का फैसला का लिया है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top