Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हवा में ही दुश्मन को निबटा देने में सक्षम हुआ भारत

 shabahat |  2017-02-12 17:21:39.0

हवा में ही दुश्मन को निबटा देने में सक्षम हुआ भारत


नई दिल्ली. भारतीय वैज्ञानिकों ने रक्षा क्षेत्र में शनिवार की सुबह पौने 8 बजे जो छलांग लगाई है उसने दुश्मन देशों के माथों पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं. बंगाल की खाड़ी में शनिवार की सुबह जैसे ही इंटरसेप्टर मिसाइल ने अपनी तरफ आ रही मिसाइल को निशाना बनाया. उस निशाने पर नज़र गडाए हिन्दुस्तानियों की आंखें चमक उठीं. भारतीय वैज्ञानिकों ने पृथ्वी डिफेंस व्हीकल (पीडीवी) इंटरसेप्टर मिसाइल का सफल परीक्षण कर एक बार यह साबित कर दिया कि अपनी सीमाओं की रक्षा में हिन्दुस्तानी पूरी तरह से सक्षम हैं. वैज्ञानिकों की इस बड़ी कामयाबी पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने वैज्ञानिकों को बधाई दी है.

इस परीक्षण के बाद भारत अब उन कुछ चुने हुए राष्ट्रों के समूह में शामिल हो गया है जिनके पास ऐसी बैलि‍स्टिक मिसाइल रक्षा प्रणाली है. राष्ट्र डी आर डी ओ द्वारा अर्जित की गई इस उपलब्धि पर गर्व करता है. यह भारत की प्रतिरक्षा क्षमताओं को बढ़ावा देने में एक उल्लेहखनीय मील का पत्थ र है तथा आने वाले बैलिस्टिक मिसाइल खतरों के मुकाबले बढ़ी हुई सुरक्षा प्रदान करेगा.

यह बैलिस्टिक मिसाइल किसी भी संभावित परमाणु हमले से निबटने में बहुत हद तक कारगर होगा. रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की अगुवाई में किए गए इस परीक्षण में 100 किलोमीटर की ऊंचाई पर अपनी तरफ आ रहे मिसाइल को इसने नष्ट कर दिया. यह मिसाइल इससे भी अधिक ऊंचाई तक पहुंचने में सक्षम है.

भारतीय वैज्ञानिक नई दिल्ली को 2000 किलोमीटर के रेंज में किसी भी मिसाइल के हमले से बचाने के लिए जिस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं, यह उसी का हिस्सा है. यह मिसाइल 80-120 किलोमीटर के दायरे में आने वाली मिसाइलों को ढूंढ भी सकती है और उन्हें नष्ट भी कर सकती है. पूरी तरह स्वचालित इस मिसाइल में सेंसर, कंप्यूटर और लॉन्चर हैं. यह बगैर किसी बाधा के लक्ष्य को सुपरसोनिक गति से नष्ट करने में सक्षम है.

यह भारत का ऐसा रक्षा कवच है जिसमें दुश्मन मिसाइलों से खुद को बचाने की भारत की क्षमता कई गुना बढ़ जाएगी. आसमान पर एस-400 का सुरक्षा कवच तीन किस्म की मिसाइलों का सिस्टम है. एस-400 में सुपरसोनिक, हाइपरसोनिक दोनों किस्म की मिसाइलें हैं. एस-400 120 किलोमीटर से 400 किलोमीटर के दायरे में सभी निशाने भेद सकता है.

Tags:    

shabahat ( 2177 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top