Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मायावती के लिये राज्यसभा और विधानपरिषद के दरवाज़े भी बन्द

 shabahat |  2017-03-13 15:51:28.0

मायावती के लिये राज्यसभा और विधानपरिषद के दरवाज़े भी बन्द


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आये अप्रत्याशित चुनाव परिणाम का सबसे ज्यादा असर बसपा सुप्रीमो मायावती के भविष्य पर पड़ने वाला है. दो अप्रैल 2018 को वह राज्यसभा से रिटायर हो जायेंगी, उन्हें फिर से राज्यसभा में जाने के लिये 37 विधायकों की ज़रुरत पड़ेगी जबकि उनके पास सिर्फ 19 विधायक ही जीतकर आये हैं. स्थिति यह है कि वह अगर विधानपरिषद भी जाना चाहें तो उसके लिये भी उन्हें 10 विधायक और चाहिए हैं. कहना चाहिये कि मोदी लहर ने मायावती के लिये राज्यसभा और विधानपरिषद का रास्ता भी बंद कर दिया है.

अप्रैल 2018 को मायावती के अलावा कांग्रेस के प्रमोद तिवारी भी रिटायर हो रहे हैं. उन्हें भी दोबारा राज्यसभा जाने के लिये 37 विधायकों के समर्थन की ज़रुरत पड़ेगी. लेकिन इस बार कांग्रेस के खाते में सिर्फ 7 विधायक हैं. पिछले राज्यसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की मदद से प्रमोद तिवारी राज्यसभा चले गये थे. इस बार समाजवादी पार्टी की खुद खस्ता हालत है. समाजवादी पार्टी के तीन नेता रिटायर हो रहे हैं. जया बच्चन, किरणमय नंदा और नरेश अग्रवाल. समाजवादी पार्टी इनमें से किसी एक को ही इस बार रिपीट कर पायेगी. बीजेपी से रिटायर होने वाले विनय कटियार के लिये किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी. राज्यसभा के बाद 18 मई 2018 को उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 13 सीटें खाली होंगी. इनमें अखिलेश यादव और राजेन्द्र चौधरी का नाम भी शामिल है. समाजवादी पार्टी के पास सिर्फ 47 विधायक हैं और इतने में अखिलेश और राजेन्द्र चौधरी दोनों नहीं जीत सकते हैं.

Tags:    

shabahat ( 2177 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top