Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कुछ इस तरह से रची जा रही है बीजेपी सरकार गिराने साजिश

 Girish |  2017-02-25 07:20:42.0

कुछ इस तरह से रची जा रही है बीजेपी सरकार गिराने साजिश

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
मुंबई: निकाय चुनाव के नतीजे आने के बाद महाराष्ट्र में सियासी घमासान तेज हो गया है। बीएमसी चुनाव में तीसरे नंबर पर रही कांग्रेस किंगमेकर की भूमिका में नजर आने लगी है। खबरों की माने तो शिवसेना ने मेयर पद पर कब्जे के लिए कांग्रेस से समर्थन मांगा है। सूत्रों के अनुसार, नौ मार्च को होने वाले मेयर के चुनाव में समर्थन के बदले में उसने कांग्रेस को डिप्टी मेयर का पद देने का वादा किया है। वहीं, सूत्रों की माने तो कांग्रेस ने देवेंद्र फणवीस की सरकार गिराने के लिए भी योजना बनाई है। कांग्रेस ने शिवसेना और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने की योजना बना ली है।

दरअसल, 227 सदस्यीय निगम में बहुमत के लिए 114 का जादुई आंकड़ा छूना होगा। अगर शिवसेना को कांग्रेस का समर्थन मिलता है तो उसका पलड़ा भारी हो जाएगा। बीएमसी का जो मेयर पद का चुनाव है उसमें कांग्रेस के 31 वोट हैं जोकि सबसे महत्वपूर्ण हैं। वहीं एनसीपी को 9 सीटें हैं। 21 अन्य के खाते में गई हैं। 3 निर्दलीय पार्षदों के शिवसेना में शामिल होने से महापौर के लिए आवश्यक 114 के आंकड़े तक पहुंचने के शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के प्रयासों को बल मिला है, लेकिन बहुमत का आंकड़ा अब भी दूर की कौड़ी नजर आ रही है, लेकिन कांग्रेस अगर शिवसेना को समर्थन देती है तो वह मजबूत हो जाएगी।

साथ ही बीएमसी में शिवसेना का मेयर बनाने के लिए कांग्रेस के कुछ पार्षद सीक्रेट वोटिंग करेंगे। इस दौरान वो गैर मौजूद भी रह सकते हैं। वहीं, बीजेपी से गठबंधन को लेकर शिवसेना शनिवार शाम 4 बजे बैठक करेगी, जिसमें वरिष्ठ नेताओं के साथ नए चुने हुए पार्षद भी मौजूद रहेंगे।

साथ ही मुंबई में कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक हुई, जिसमें फडणवीस सरकार को गिराने का प्रस्ताव रखा गया। बैठक में शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की सरकार बनाने का प्रस्ताव भी पेश हुआ। इस प्रस्ताव का अशोक चव्हाण, संजय निरुपम और नारायण राणे ने समर्थन किया।

हालांकि, कांग्रेस नेता गुरदास कामत ने इसका विरोध किया है। इसके लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को चिट्ठी लिखी है। इसमें सांप्रदायिक ताकतों से हाथ ना मिलाने की मांग की है।

बता दें कि 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी के 122 विधायक हैं। तो वहीं शिवसेना के 63, कांग्रेस के 42, एनसीपी के 41 और 20 अन्य विधायक हैं। फिलहाल, महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन सरकार है और देवेंद्र फणवीस इसके मुखिया हैं। अगर यहां शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस एक साथ आते हैं, तो फडणीस सरकार अल्पमत में आ जाएगी और सरकार अस्थिर हो जाएगी।

Tags:    

Girish ( 4001 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top