Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अवैध टेलीफोन एक्सचेन्ज के ज़रिये चल रही थी भारत की जासूसी, आर्मी की शिकायत पर एटीएस ने किया भंडाफोड़

 shabahat |  2017-01-25 11:06:24.0

अवैध टेलीफोन एक्सचेन्ज के ज़रिये चल रही थी भारत की जासूसी, आर्मी की शिकायत पर एटीएस ने किया भंडाफोड़

लखनऊ. उत्तर प्रदेश ए.टी.एस.ने अवैध रूप से टेलीफोन एक्सचेन्ज चलाकर अंतर्राष्ट्रीय फोन काल कराने वाले रैकेट का भण्डाफोड़ करते हुए 11 अभियुक्तों को जनपद लखनऊ हरदोई सीतापुर और नई दिल्ली के मेहरौली से गिरफ्तार किया है. जम्मू कश्मीर मिलिट्री इन्टेलीजेन्स को सूचना मिली रही कि कुछ भारतीय नम्बरों से जासूसी करने के उददेश्य से आर्मी यूनिट्स पर काल आ रहे थे. एटीएस उ.प्र. ने इन नम्बरों की जांच की तो पाया कि अवैध टेलफोन एक्सचेन्ज के माध्यम से भारत के बाहर से काल किये जा रहे हैं परन्तु डिस्पले पर भारत का ही नम्बर दिखता है.

पुलिस महानिरीक्षक एटीएस उ.प्र., असीम अरुण ने कहा कि यूपी एटीएस द्वारा सिम बाक्स का भंडाफोड़ करने से जासूसी कर रहे एजेन्टों का काम मुश्किल हो जायेगा. अब यह अंतर-राष्ट्रीय फोन गेटवे से बच कर काल नहीं कर पायेंगे. इसके लिए सेना और टर्म सेल के साथ मिल कर अन्य ऐसे आपरेटरों के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी. इससे आतंकवादियों और जासूसों का काम मुश्किल तो होगा ही,सरकार और मोबाइल कंपनियों को हो रही करोड़ों की हानि भी बचेगी.

श्री अरूण ने बताया कि सुरक्षा कारणों से इस प्रकरण को बेहद गम्भीरता से लेते हुए एटीएस की टीमों को सक्रियता से लगाया गया. उन्होंने बताया कि कुछ दिनों से जानकारी मिल रही थी विदेशों से भारत में सस्ते फोन काल करने के लिए कुछ अपराधिक तत्व अवैध रूप से पैरलल टेलीफोन एक्सचेन्ज चला रहे हैं. इसके अंतर्गत विदेश में बैठा व्यक्ति भारत को इन्टरनेट काल करता है और सिम बाक्स के माध्यम वाइस काल में बदल कर हिन्दुस्तान के जिन नम्बर पर विदेश में बैठा व्यक्ति बात करना चाहता है यह लोग बात करा देते हैं तथा हिन्दुस्तानी नम्बर पर विदेशी नम्बर की जगह हिन्दुस्तान का ही नम्बर दिखता है. अभियुक्तगणों के इस कार्य से भारत की सुरक्षा को खतरा पहुचने के साथ-साथ करोड़ों रूपये की भारतीय टेलीफोनिक अर्थ व्यवस्था की चोरी होती है. केन्द्रीय दूरसंचार विभाग के टर्म सेल लखनऊ शाखा से सम्पर्क किया गया तो टर्म सेल के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि भारत में इन्टरनेट से भारत के किसी भी मोबाईल या लैण्डलाइन नेटवर्क पर काल वैध नही है तथा जो भी काल हो वह भारत सरकार द्वारा निर्धारित नियमों एवं शर्तो के अधीन हो. टेलीफोन कम्पनियों का भी दायित्व बनता है कि प्रत्येक तीन माह में जारी सिमों सत्यापन भी करें.

पुलिस महानिरीक्षक एटीएस ने बताया कि इन अवैध एक्सचेन्जों का पता लगाने के लिये एटीएस के अपर पुलिस अधीक्षक राजेश साहनी के नेतृत्व में कई टीमों को लगाया गया. प्राप्त सूचनाओं तथा मोबाईल नम्बरों की गहनता से किये गये विश्लेषणों से यह जानकारी हुई कि इस तरह के अवैध टेलीफोन एक्सचेन्ज लखनऊ, सीतापुर हरदोई जनपदो में भी संचालित हैं. इनको चलाने वाले किसी दूसरे के नाम पते पर सिम प्राप्त कर सिम बाक्स में डाल कर चलाते हैं. आपरेशन में लगायी गयीं विभिन्न टीमों द्वारा इस सूचना को विकसित किया गया तो जानकारी मिली कि लखनऊ वाले इस गिरोह का संबंध हरदोई एवं सीतापुर से भी है. इस प्राप्त गोपनीय जानकारी के आधार पर एटीएस टीमों द्वारा 24 जनवरी 2017 को देर रात तक कार्यवाही की गयी. उन्होंने बताया कि एटीएस की टीमों ने टर्म सेल के अधिकारियों एवं स्थानीय पुलिस के सहयोग से लखनऊ से राहुल रस्तोगी पुत्र स्वर्गीय कमल रस्तोगी निवासी सीतापुर हालपता-सेक्टर जे अलीगंज लखनऊ, शिवेन्द्र मिश्रा पुत्र चन्द्र प्रकाश मिश्रा निवासी सीतापुर हाल पता मड़ियाव लखनऊ, हर्षित गुप्ता पुत्र संजय गुप्ता निवासी अमीनाबाद लखनऊ तथा विशाल कक्कड़ पुत्र ओमप्रकाश निवासी राजाजीपुरम लखनऊ राहुल सिंह पुत्र रतनपाल सिंह निवासी बुलन्दशहर हाल पता प्रियदर्शनी कालोनी लखनऊ को गिरफ्तार कर अभियुक्तगणों के पास से 3 लेपटाप,12 सिमबाक्स, लगभग 87 सिम, 25 मोबाईल फोन डाटाकार्ड तथा अन्य सहवर्ती संचार सामग्री बरामद किया गया.

हरदोई से अभियुक्त विनीत कुमार दीक्षित पुत्र कमलेश्वर निवासी सरायथोक पश्चिम थाना कोतवाली हरदोई को गिरफ्तार कर उसके पास से दो सिमबाक्स 16 एवं 32 स्लाट के, 13 सिमकार्ड बोडाफोन, 2 लेपटाप, 2 पेनडाइव तथा 4 मोबाईल फोन बरामद किये गये. सीतापुर से कुल 4 अभियुक्त रिषि होरा पुत्र स्वर्गीय अशोक कुमार निवासी चर्च रोड सीतापुर, श्याम बाबू उर्फ बीरू पुत्र गया प्रसाद निवासी सुक्खूमल रोड सीतापुर, उत्तम शुक्ला पुत्र राम शुक्ला निवासी शमशेर बाग कालोनी सीतापुर तथा विकास वर्मा पुत्र ओमप्रकाश वर्मा निवासी सिविल लाईन सीतापुर से गिरफ्तार कर इनके पास से दो सिम बाक्स 16 स्लाटस के, 28 सिम, मोबाईल फोन्स, 3 जी डाटा कार्ड बरामद किये गये. उन्होंने बताया कि एटीएस नोएडा टीम द्वारा भी इसी कड़ी में एक अभियुक्त गुलशन सेन पुत्र मातादीन सेन निवासी मेहरौली दिल्ली को भी गिरफ्तार किया गया है. अभियुक्तगणों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर वैधानिक कार्यवाही की जा रही है तथा पूछताछ के आधार पर अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी. इस संदर्भ में 23.10.2017 को एटीएस ने थाना एटीएस उ.प्र. गोमतीनगर लखनऊ पर अभियोग पंजीकृत कर लिया था जिसके आधार पर कार्यवाही की गयी है.

श्री अरूण ने बताया कि आपरेशन टीम में शामिल समस्त स्टाफ को इस सराहनीय कार्य के लिए पुलिस महानिदेशक ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि टर्म सेल के अधिकारी अशोक कुमार राघव की टीम तथा लखनऊ की एटीएस टीम में के.एम. राय, कृपाशंकर दीक्षित विनोद शुक्ला, दिनेश शर्मा तथा सुरेश गिरि सहित टीम ने, हरदोई में उप निरीक्षक संजय सिंह की टीम ने तथा सीतापुर में स्वयं अपर पुलिस अधीक्षक राजेश साहनी ने निरीक्षक भानू प्रताप सिंह के साथ सक्रियता से प्रभावी कार्यवाही कर आपरेशन में प्रमुख भूमिका निभायी.

Tags:    

shabahat ( 2177 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top