Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गंगा मईया इस बार बदला लेंगी

 shabahat |  2017-03-04 16:12:41.0

गंगा मईया इस बार बदला लेंगी


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ / वाराणसी. शनिवार को महाराजगंज से लेकर बलिया तक छठे चरण का मतदान चल रहा था उधर बनारस का सियासी पारा अपने हाईयेस्ट टेम्प्रेचर पर था. बनारस में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आमने-सामने थे. एक ही शहर में एक दूसरे पर ज़बानी तीरों की बारिश चल रही थी. यूपी विधानसभा चुनाव में आज का दिन पूरी तरह से एतिहासिक बन गया. मुख्यमंत्री पद की दावेदारी पेश करने वाली बुआ और भतीजा अपनी-अपनी ताक़त का प्रदर्शन करने में लगे थे तो प्रधानमंत्री भी इस शक्ति प्रदर्शन में कहीं से कमज़ोर नहीं पड़ना चाहते थे.

अखिलेश यादव ने आज अपने ही अंदाज़ में नरेन्द्र मोदी पर खूब चुटकियाँ लीं. उन्होंने कहा कि मोदी जी तो पाइनएपल और नारियल का फर्क नहीं जानते हैं. ऐसे में बनारस के लोग उनसे होशियार रहें. कहीं ऐसा न हो कि यहाँ के लोग मट्ठा पी रहे हों और मोदी जी कहने लगें कि यहाँ के लोग पान पी रहे थे. प्रधानमंत्री और भाजपा द्वारा समाजवादी पार्टी के चुनाव निशान सायकिल का मजाक उडाये जाने पर पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि मोदी जी शायद यह बात जानते नहीं हैं कि सायकिल से डायनेमो चलाकर बिजली भी बनाई जा सकती है.


बनारस में मोदी ने गंगा मईया का आशीर्वाद माँगा तो अखिलेश और राहुल ने पलटवार किया कि गंगा मईया इस बार बदला लेंगी. अखिलेश अपनी सांसद पत्नी डिम्पल और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बाबा विश्वनाथ का दर्शन करने गये तो इस बात पर सख्त नाराजगी दिखाई कि गंगा मईया ने जिसे सांसद बनाया उसने गंगा सफाई का वादा भी भुला दिया. इस बार गंगा मईया बदला लेने के लिये पूरी तरह से तैयार हैं.


अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि हम लैपटाप और स्मार्टफोन देने की बात कर रहे हैं तो वह शमशान और कब्रिस्तान देने की बात कर रही है. उन्होंने कहा कि हमसे हमारे पांच साल का हिसाब ले लो और अपना तीन साल का हिसाब बता दो. साथ ही यह भी तो बताओ कि ढाई हज़ार किलोमीटर लम्बी गंगा को 500 किलोमीटर भी साफ़ किया क्या? राहुल गांधी ने बनारस के अधूरे कामों को मुद्दा बनाया. बनारस को साफ़ नहीं किया. फोर लेनिंग का वादा भूल गये. इंटरनेट देने का वादा भी नहीं निभाया. हम सब गंगा के बेटे हैं लेकिन वह ऐसे दिखाते हैं जैसे वह अकेले ही उनके बेटे हैं.

राहुल ने कहा कि नोटबंदी कर मोदी ने गरीबों, मजदूरों और किसानों की कमर तोड़ दी. उन्होंने कहा कि मोदी ने 2014 में अच्छे दिन का वादा किया और ढाई साल बाद पेश किये शोले. राहुल की इस बात पर जब मुर्दाबाद के नारे लगे तो उन्होंने कहा कि गुस्से में नारा नहीं लगाओ, गुस्से में वोट डालने जाओ.

Tags:    

shabahat ( 2177 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top