सूत्रों की मानें तो, यूपी के सीएम के लिए मनोज सिन्‍हा का नाम फाइनल हो चुका है। अब इस नाम को आज सार्वजनिक कर बस औपचारिकता करना शेष रह गया है। मनोज सिन्हा के नाम को पीएमओ से भी हरी झंडी मिल चुकी है। शनिवार को लखनऊ में बीजेपी विधायक दल की बैठक होने वाली है। जबकि 19 मार्च को पीएम मोदी की मौजूदगी में दोपहर करीब सवा दो बजे उत्तर प्रदेश की नई सरकार शपथ लेगी। 

आईआईटी बीएचयू से पढ़े मनोज सिन्हा की छवि काफी साफ सुथरी है। मनोज सिन्हा राजनीति में सक्रिय रहे और सिन्हा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष भी थे और साल 1996 में सिन्हा पहली बार सांसद बने थे। विवादों से अक्सर दूर रहने वाले मनोज सिन्हा मोदी सरकार में अहम रोल निभा रहे हैं।
", | "url" : "http://tahlkanews.in/mukhya-samachar/watch-video-manoj-sinha-visited-kal-bhairav--158916", | "publisher" : { | "@type" : "Organization", | "name" : "Tahlka News", | "logo" : { | "@context" : "http://schema.org", | "@type" : "ImageObject", | "contentUrl" : "http://tahlkanews.in/images/logo.png", | "height": "150", | "width" : "50", | "url" : "http://tahlkanews.in/images/logo.png" | } | }, | "mainEntityOfPage": { | "@type": "WebPage", | "@id": "http://tahlkanews.in/mukhya-samachar/watch-video-manoj-sinha-visited-kal-bhairav--158916" | } | }
Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

VIDEO: UP CM की रेस में मनोज सिन्‍हा सबसे आगे, काल भैरव के किए दर्शन

 Avinash |  2017-03-18 02:46:42.0

VIDEO: UP CM की रेस में मनोज सिन्‍हा सबसे आगे, काल भैरव के किए दर्शन

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
वाराणसी. यूपी विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद बीजेपी शनिवार को सीएम के नाम ऐलान करेगी। यूपी का सीएम बनने की रेस में बीजेपी के कई दिग्‍गज नेता शामिल हैं, लेकिन गाजीपुर से सांसद मनोज सिन्‍हा सबसे आगे चल रहे हैं। वहीं, मनोज सिन्‍हा ने आज नई दिल्‍ली से वाराणसी पहुंचकर सबसे पहले काल भैरव के दर्शन किए और उसके बाद काशी विश्वनाथ के दर्शन करेंगे।



सूत्रों की मानें तो, यूपी के सीएम के लिए मनोज सिन्‍हा का नाम फाइनल हो चुका है। अब इस नाम को आज सार्वजनिक कर बस औपचारिकता करना शेष रह गया है। मनोज सिन्हा के नाम को पीएमओ से भी हरी झंडी मिल चुकी है। शनिवार को लखनऊ में बीजेपी विधायक दल की बैठक होने वाली है। जबकि 19 मार्च को पीएम मोदी की मौजूदगी में दोपहर करीब सवा दो बजे उत्तर प्रदेश की नई सरकार शपथ लेगी।

आईआईटी बीएचयू से पढ़े मनोज सिन्हा की छवि काफी साफ सुथरी है। मनोज सिन्हा राजनीति में सक्रिय रहे और सिन्हा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष भी थे और साल 1996 में सिन्हा पहली बार सांसद बने थे। विवादों से अक्सर दूर रहने वाले मनोज सिन्हा मोदी सरकार में अहम रोल निभा रहे हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top