Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

रामगोपाल अपने लड़के और बहू के कहने पर तोड़ रहे हैं पार्टी: मुलायम

 Girish |  2017-01-11 09:20:43.0


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने आज बुधवार को लखनऊ में समाजवादी पार्टी ऑफिस में पार्टी कार्यकर्ताओं से एक लम्बे अरसे के बाद बात की. मुलायम ने यहाँ कहा कि रामगोपाल यादव भारतीय जनता पार्टी से मिले हुए हैं और पार्टी तोड़ने में लगे हैं. उन्होंने कहा कि मेरे पास जो कुछ था वो दे दिया है.

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अब न पार्टी बदलेगी और न ही सिंबल. मैं नहीं चाहता कि पार्टी टूटे. उन्होंने कहा कि राम गोपाल अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बना रहे हैं वह पार्टी का चुनाव चिन्ह भी बदलना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि उन्हें साइकिल की जगह मोटरसाइकिल मिल जाये लेकिन मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा है.


क्या कहा मुलायम ने?

पार्टी कार्यकर्ताओं के सामने मुलायम काफी भावुक दिखे. उन्होंने कहा कि आप सब जानते हैं कि समाजवादी पार्टी को खड़ा करने में मैंने और शिवपाल सिंह यादव ने कितना संघर्ष किया. इसके लिये हमने लाठियां खाईं, कितनी बार जेल गये. इसी वजह से हम नहीं चाहते कि पार्टी टूटे. मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मेरी कलम से न तो पार्टी का नाम बदलेगा और न ही चुनाव चिन्ह बदलेगा. उन्होंने कहा कि मेरे पास जो था वह सब दे चुका हूँ. अब कुछ नहीं बचा है. सिर्फ आप लोग ही बचे हैं.

सपा सुप्रीमो ने कहा कि राम गोपाल भारतीय जनता पार्टी से मिलकर पार्टी तोड़ने में लगे हैं. राम गोपाल यह सब अपने बेटे और बहू को बचाने के लिये कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि राम गोपाल मुझसे कहते तो मैं उन्हें बचा लेता लेकिन उन्होंने गलत जगह जाकर मदद माँगी है. मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मैं शिष्टाचार की वजह से सबका सम्मान करता रहा लेकिन किसी को भी पार्टी नहीं टूटने दूंगा.

सपा सुप्रीमो ने स्पष्ट कर दिया कि पार्टी के लिये शिवपाल सिंह की मेहनत को वह अनदेखा नहीं कर सकते. शिवपाल को दिन में छुपकर रहना पड़ता था लेकिन रात को वह पार्टी के प्रचार के लिये निकलते थे. उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्त्ता खुद यह देखें कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से कौन संपर्क कर रहा है.

Tags:    

Girish ( 4001 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top