Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अंबेडकर को पहला सम्मान समाजवादियों ने दिया: मुलायम

 Tahlka News |  2016-04-11 16:31:47.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ, 11 अप्रैल. समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अतिपिछड़ों को पाले में करने के प्रयास के चौथे दिन दलितों को सपा से जोडऩे का दांव चला। उन्होंने कहा डॉ. भीमराव अंबेडकर को समाजवादियों ने सबसे पहले और सबसे ज्यादा सम्मान दिया। उनको एक जाति का नेता बताया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।


सोमवार को सपा कार्यालय में जैन समाज के सम्मान समारोह में मुलायम ने कहा कि डॉ.अंबेडकर को एक जाति तक सीमित करने वाले लोगों को उनका बचपन, जीवन संघर्ष और दर्शन पढऩे की जरूरत है। जब स्कूलों में दाखिला मुश्किल था। छुआछूत चरम पर थी, तब डॉ.अंबेडकर ने उच्च शिक्षा हासिल की, उनकी काबिलियत का हर वर्ग ने सम्मान किया, इसमें समाजवादी सबसे आगे थे।


समाजवादी पहले दिन से ही डा.अंबेडकर को आदर देते आ रहे हैं। एक सम्मेलन का हवाला देते हुए मुलायम ने कहा कि अंबेडकर को सम्मान देने वालों में पंडित नेहरू (जवाहर लाल नेहरू) भी थे। यह पूछे जाने पर कि बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने जद (यू) की कमान संभालने के बादउत्तर प्रदेश की राजनीति में फोकस की बात कही है, आपकी प्रतिक्रिया? जवाब में मुलायम ने कहा कि यह बेमौसम बरसात जैसा सवाल है, अभी सिर्फ जैन धर्म पर बात। इसका बाद में जवाब देंगे। भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष पर आपराधिक मुकदमों को लेकर पूछे गए सवाल को टालते हुए मुलायम ने कहा कि यह सवाल भाजपा से करिये। उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है। चाहे जिसे अध्यक्ष बनायें, सपा को इससे कोई मतलब नहीं।


धन संग्रह के खिलाफ थे भगवान महावीर
मुलायम ने कहा कि वह बचपन से जैनियों के बीच रहे, जैन कालेज में पढ़े हैं जहां एक घंटा जैन धर्म के बारे में पढ़ाया जाता था, इसलिए जानते हैं कि यह मानवता का धर्म है। त्याग, तपस्या के चलते इस धर्म का प्रचार हुआ। कहा कि त्याग का आलम ये था कि जैन धर्म को मानने वाले लोग निर्वस्त्र होकर रैलियां निकालते थे, जिनके सम्मान में बड़ी संख्या में लोग जुटते थे। कहा कि भगवान महावीर धन संग्रह के खिलाफ थे। उन्होंने दया, सेवा के भाव पर चलने का मंत्र दिया, अभी बड़ी संख्या में जैन धर्म के अनुयायी इस राह पर चल रहे हैं। कुछ लोग मजबूरी में व्यापार में आए, मगर उसमें भी कुछ लोग मानवता के लिए कार्य कर रहे हैं। इस मौके पर मंगलायतन विश्वविद्यालय की ओर से मुलायम को डॉ.राम मनोहर लोहिया की प्रतिमा भेंट की गयी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top