Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुस्लिम समाज को BJP से सर्तक रहने की जरूरत: मायावती

 Girish Tiwari |  2016-12-26 06:40:46.0

mayawati

तहलका न्‍यूूज ब्‍यूरो
लखनऊ:
बसपा प्रमुख मायावती ने सोमवार को मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार के ढाई साल पूरे हो चुके हैं। इसके बाद भी मोदी सरकार ने एक चौथाई काम भ्‍ाी नहीं किया है। बीजेपी के प्रति पूरे देश आक्रोश का माहौल है।


उन्‍होंने कहा कि यूपी विधानसभा को देखते हुए बीजेपी अपने पक्ष में हवा बना रही है। मायावती ने कहा कि मुस्लिम समाज को बीजेपी से सर्तक रहने की जरूरत है। चुनाव में मुस्लिम सोच समझकर वोट दे, उनकी हितैषी पार्टी सिर्फ बसपा है। हर बसपा सरकार में मुस्लिम सुरक्षा और हितों के काम हुए। मुझे यूपी की जनता पर पूरा भरोसा है, जिस तरह बिहार में धर्मनिरपेक्ष वोट ने भाजपा को हराया उसी तरह यहाँ वो बसपा के साथ खड़ा होगा।


यूपी चुनाव के लिए बीजेपी तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। यूपी में बीजेपी ने अपने पक्ष में हवा बनाने के लिए बिकाऊ माल और स्वार्थी लोगों को तोड़कर शामिल किया। स्‍वार्थ के लिए दूसरे दलों के लोगों को अपने पार्टी में शामिल कर रहे हैं।


वहीं, मायावती ने समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि BSP को रोकने के लिए सपा भी हथकंडे अपना रही है। यह चर्चा है सपा, कांग्रेस गठबंधन से चुनाव लड़ेगी। मायावती ने कहा कि सपा, कांग्रेस गठबंधन की मुहर BJP के कहने पर होगी। बीजेपी के इशारे पर होने जा रहा सपा,कांग्रेस का गठबंधन।


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद आगे आकर कांग्रेस से गठबंधन की बात करते हैं, कमज़ोर कांग्रेस के सहारे की ज़रुरत क्यों महसूस हो रही है, गहराई में जाना चाहिए। सपा गठबंधन के बाद हार का ठीकरा कांग्रेस के सर मढ़ेगी, ताकि आपसी कलह और सरकार की कमी छुपाई जा सके। सपा अखिलेश-शिवपाल खेमों में बटी है, दोनों खेमे अंदर अंदर एक दूसरे को हराना चाहते हैं।

मायावती ने कहा कि बसपा हुकूमत के वक़्त बीजेपी के सिर्फ 9 सांसद जीते थे। लेकिन सपा सरकार में 73 बीजेपी सांसद जीते यूपी से हैं। जब-जब सपा सरकार बनी बीजेपी मज़बूत हुई।


उन्‍होंने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस सरकारों में साम्प्रदायिक दंगों में नुकसान हुआ। यूपी में हुए सांप्रदायिक दंगों को भुलाया नहीं जा सकता। गुजरात की तर्ज पर यूपी में दंगों के दाग नहीं धोये जा सकते। 2013 में मुजफ्फरनगर में सांप्रदायिक दंगा हुआ। मुज़फ्फरनगर दंगों का खूनी दाग नहीं धुल सकता। साम्प्रदायिक दंगों का दाग मुलायम के दामन पर हमेशा रहेगा। मुलायम के शासनकाल में वोटों के ध्रुवीकरण के लिए अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाई। BJP , सपा की मिलीभगत से अयोध्या में गोली चली थी। अयोध्या को भी राजनीतिक स्वार्थ में भुनाने की कोशिश हो सकती है।


उन्‍होंने कहा कि सपा की पहचान गुंडों बदमाशों और भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने वाली, हमेशा इस सरकार में अराजकता, जंगल राज रहता है। दलित वोट और मुस्लिम समाज का वोट मिलकर अपने आप ही बहुत बड़ी ताकत बन जाता है। जबकि सपा का बेस वोट बसपा से कम है।सपा सरकार में जाति विशेष का ध्यान रखा जाता है। सपा कांग्रेस से गठबंधन कर भी सत्ता में आने वाली नहीं है।


मायावती ने कहा:-


- नोटबंदी का अपरिपक्व फैसला गले की हड्डी बना है
- इसकी सज़ा दुखी पीड़ित लोग ज़रूर देंगे
- चोर दरवाज़े से पूंजीपतियों का पैसा बीजेपी ने पानी की तरह बहाया
- वादे ने पूरे करने पर बीजेपी ने नोटबंदी की
- नोटबंदी से बीजेपी ने जनता का ध्यान भटकाया
- नोटबंदी से परेशान जनता सबक सिखाएगी
- नोटबंदी BJP के गले की फांस बन गयी
- धन्नासेठों का करोड़ों रुपया बीजेपी ने इस्तेमाल किया
- डिजिटल इंडिया वालों ने लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया। ये दिखा दिया की यही डिजिटल है
- मायावती ने कहा कि मेरा नूर नहीं उतरा है बल्कि नोटबंदी के बाद अमित शाह और मोदी का नूर उतर चूका है
- बीजेपी सरकार नोटबंदी का फैसला लिया है वो लोकसभा चुनाव के वादों से जनता का ध्यान हटाने के लिए
- मैं भी भ्रष्टाचार के खिलाफ
- दादरी कांड के पीड़ितों को फंसाने का प्रयास हो रहा

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top