Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सवा सौ करोड़ देशवासियों का रक्षा कवच है मेरे पास: पीएम मोदी

 Abhishek Tripathi |  2016-12-27 09:51:34.0

narendra-modi


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
देहरादून:
पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तराखंड में बीजेपी परिवर्तन रैली में हिस्सा लिया। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी पर देशवासियों ने मेरी मदद की है, इसलिए ये लड़ाई लड़ पा रहा हूं। देश के गरीबों का साथ नहीं होता तो ये लोग पता नहीं मेरा क्या कर देते। अभी भी इसी फिराक में हैं कि मौका मिलेगा तो मोदी पर टूट पड़ेंगे। सवा सौ करोड़ देशवासियों का रक्षा कवच है मेरे पास। मुझे नहीं हटा पाएंगे।


पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आपने मुझे देश का चौकीदार बनाया है और जब मैं चौकीदारी का काम कर रहा हूं, तो कुछ लोगों को कष्ट हो रहा है. मैं कालाधन और कालेमन के खिलाफ हूं। इसे समाप्त करके ही मानूंगा। देश से भ्रष्टाचार का अंत होकर रहेगा। मैंने चोरों के सरदारों पर वार कर दिया है। कालाधन और भ्रष्टाचार ने देश को बर्बाद कर दिया है।
पीएम ने कहा कि हमारे देश में पिछले 70 सालों में ऐसी सरकारें आयीं, जिन्होंने 125 करोड़ लोगों के देश में कुछ सुविधाएं नहीं दीं। देश में आजादी के इतने साल बाद भी 18,000 गांव ऐसे हैं, जहां के लोग बिजली से परिचित नहीं हैं। उन्हें इस सुविधा का लाभ नहीं मिला है।


इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने आज यहां चारधाम हाईवे डेवलपमेंट प्रोग्राम का उद्‌घाटन किया। उन्होंने कहा कि चारधाम प्रोजेक्ट से यहां के लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। अगर यहां आवश्वयक सुविधाएं उपलब्ध करायी जाये, तो कौन सा परिवार इस देश में ऐसा होगा जो इस देवभूमि पर आना नहीं चाहेगा। उन्होंने कहा कि मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि जब भी आप केदारनाथ और बद्रीनाथ की यात्रा पर आयेंगे तो आप इस सरकार और नितिन गडकरी को याद करेंगे।


मोदी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता विकास है। उत्तराखंड का विकास करने के लिए यह जरूरी है कि भाजपा सरकार में आये और भ्रष्टाचार को मिटाये। बेईमान सोचते थे कि मोदी को पता नहीं चलेगा और हम अपने कालेधन को सफेद कर लेंगे, लेकिन ऐसा संभव नहीं है। मोदी को सब पता है, उसे देश की जनता का समर्थन प्राप्त है। इसलिए देश को लूटने वाले मुझपर अंगुली नहीं उठा पायेंगे।

बीते लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि 2014 में जब यहां आया था, तब मैंने एक बात कही थी। आप शायद भूल गए होंगे। लेकिन मैं भूलने के लिए बातें नहीं करता। मैंने आपको कहा था कि पहाड़ों की जिंदगी में ऐसा कहा जाता है कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी पहाड़ को कभी काम नहीं आती। मैंने इस कहावत को बदलने की ठानी है। पहाड़ का पानी पहाड़ को काम आएगा। पहाड़ की जवानी भी पहाड़ को काम आएगी। ऐसा उत्तराखंड बनाएंगे कि यहां के जवानों को हिमालय छोड़कर शहरों की गंदी गलियों में जिंदगी गुजारने को मजबूर नहीं होना पड़ेगा।


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top